योगी ने महिलाओं की कर दी बल्ले-बल्ले, मिशन शक्ति के तहत आत्मनिर्भर बनी महिलाएं

मुजफ्फरनगर | सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा मिशन शक्ति योजना के तहत महिलाओं की सुरक्षा सम्मान स्वालंबन से लेकर अनेकों प्रकार की योजनाओं के साथ-साथ हेल्पलाइन चलाई हुई है। जिसमें महिलाएं पूरी तरह सुरक्षित एवं आत्म निर्भर बन रही है। ऐसे ही एक बानगी जनपद मुजफ्फरनगर के गांव मजलिशपुर तोफिर में देखने को मिली है, आपको बताते चलें जनपद मुजफ्फरनगर थाना भोपा क्षेत्र के गांव मजलिस तौफिर जो कि जनपद का सबसे बैकवर्ड गांव माना जाता है। जहां पर रोजगार की बहुत कमी है,

गांव में गंगा स्वयं सहायता समूह के द्वारा लगभग 30 महिलाओं ने यह साबित कर दिखाया कि महिलाएं पुरुषों से कम नहीं है, समूह के माध्यम से नारी आत्मनिर्भर को दृष्टिगत रखते हुए अब तक घर सम्भाला है अब खेतो की बारी है।

गन्ने की बेहतर फसल के लिये महिलाओं द्वरा पौधों की नई तकनीकी खोज निकाली है जिसमे महिलाओं के द्वरा गन्ने के लिये बड़े स्तर पर पौध तैयार की जा रही है,स्वस्थ गन्ने की आंख को मशीन के द्वरा अलग कर लिया जाता है और फिर डावाओ और मिट्टी से एक ट्रे में बो दिया जाता है मात्र डेड महीने के अंतराल में यह पौध तैयार हो जाती है,जिसकी पैदावार उच्च क़्वालिटी में होती है।पूरानी तकनीकी की अपेक्षा 1 हजार का लाभ और लगभग प्रति बीघा के हिसाब से 04 कुंतल गन्ने की बचत होती है।

साथ साथ इन महिलाओं को बेहतर आर्थिक रोजगार मिला है,तैयार एक पौध पर विभाग से डेढ़ रुपये और खरीदने वाले किसानों से भी डेड रुपये प्रति पौधा मिलता है यानी कि एक पौधा पर 03 रुपये मिलता है।

गन्ना स्वयं सहायता समूह द्वारा इस बेहतर तकनीकी को देखने के लिए मुजफ्फरनगर जिला गन्ना अधिकारी आरडी द्विवेदी अपनी टीम के साथ इस तकनीकी को देखने पहुँचे।और समहू की महिलाओं की जमकर तारीफ की,जनपद मुज़फ्फरनगर जो कि गन्ना बाहुल्य छेत्र माना जाता है वेस्ट यूपी में सबसे ज्यादा पैदावार गन्ने की होती है।महिलाओं के इन साहसी कार्य की जमकर तारीफ जो कि घरों के बाद इस समूह की माध्यम से स्व रोजगार खड़ा कर ये साबित कर दिया है कि मिशन शक्ति के तहत पुरषो से कम नही है। गन्ना विभाग व यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का धन्यवाद दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *