लेखक और समाजसेवी यश वर्मा कोरोना संकंट में दिन रात कर रहे गरीबों की मदद, चहुंओर हो रही प्रशंसा

Spread the love

Desk: लॉकडाउन के दौरान यह बात सच होती नजर आ रही है कि देश-समाज पर आएं बड़े विपदा का मुकाबला कोई अकेला कर ही नहीं सकता। इस तरह के किसी भी विपदा का मुकाबला समाज मिलकर ही करना पड़ता है। लॉकडाउन के बाद सरकारी प्रयास को विफल होता देखकर कई लोग औरसमाजसेवी संस्थाओं के अनगिनत हाथों ने आम लोगों के हाथ थाम लिया। जिसके वजह उनकी परेशानी कुछ हद तक कम हुई।

इन्हीं लोगों में एक नाम युवा सामजसेवी यश वर्मा का है। कोरोना महामारी के वक़्त पटना जिला मे मार्च महीने से लगातार गरीब, असहाय और कमजोर वर्ग के लिए आगे बढ़कर कार्य कर रहे हैं। ये लोगों तक राशन सामग्री पहुंचा रहे हैं। जरूरतमंदों को आर्थिक मदद भी कर रहे हैं। इनके कार्य की सोशल मीडिया पर काफी सराहना हो रही है। सराहना करने वालों में अभिनव कुमार भी हैं, जो की एक जाने-माने सेलिब्रिटी हैं। वो ट्रीवागो होटल के प्रचार मे दिखते थे और वर्तमान मे PAYTM के Brand Ambassador,Vice President Sales Marketing हैं। इन्होने अपने सोशल मीडिया पर यश के कार्य को शेयर किया है।

यश वर्मा पटना के जाने माने युवा हैं। इन्होने पटना के प्रतिष्ठित विधालय संत माईकल उच्च विद्यालाय से अपनी पढाई पुरी की है। उसके बाद ये रेवा विश्वाविद्यालय बंगलोरे से पढाई पुरी कर रहे हैं। वे अपने विश्वाविद्यालय के अध्यक्ष भी हैं। पढाई के साथ ही साथ इनकी समाज सेवा मे भी रूची है।

इनका नाम वेदांत वर्मा भी हैं परंतु मित्र मंडली और समाज मे ये यश वर्मा के नाम से ज़ाने ज़ाते हैं। बेहद कम उम्र में सामाजिक मुद्दों पर उनकी समझ काफी प्रशंसनीय है। यश एक उभरते हुये लेखक भी है। इनका कहना हैं कि आज ये जो भी हैं सिर्फ और सिर्फ अपने माँ-पिताजी और बड़ो के आशीर्वाद से हैं। बता दे इनके पिताजी सुनील कुमार वर्मा बिहार सरकार में एक बड़े कर्मठ उच्च अधिकारी के रुप मे ज़ाने जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.