क्या बिहार में फिर से होगा लॉकडाउन?

‘कोरोना’ एक ऐसा शब्द जिससे सुन कर लोगों के मन में भय पैदा हो जाता है। कोरोना महामारी के ही वजह से पूरे देशभर में पिछले साल लॉकडाउन लगाया गया था। किसे पता था कि जिंदगी एकदम से थम सी जाएगी। तीन महीने के लंबे लॉकडाउन में लोगों की आर्थिक स्थिति बिगड़ गई, हजारों-करोड़ो लोग सड़क पर आ गए थे। लेकिन एक बार फिर से मार्च के ही महीने में कोरोना वापस दस्तक दे सकता है। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि महामारी के वापस आने के संकेत हैं। मुंबई और दिल्ली के बाद अब बिहार में कोरोना की वापसी का डर सता रहा है। दरअसल, कोरोना केसों की संख्या अचानक से बिहार में बढ़ने लगे हैं। बता दें, मुबंई और दिल्ली में जिस तरह से आकड़ो में लगातार इज्फा हो रहा है, उससे वापस से लोगों में डर समा चुका है।

देश की राजधानी दिल्ली में अचानक से कोरोना वायरस के केस बढ़े हैं। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 400 से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। यह बीते 2 महीने में कोरोना के सबसे ज्यादा केस हैं। वही महाराष्ट्र में कोरोना के 14317 नए मरीज मिले हैं जो इस साल में सबसे ज्यादा मरीजों की संख्या है। कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण नागपुर में लॉकडाउन लगाया गया है तो वहीं महाराष्ट्र सरकार ने कई अन्य इलाकों में भी लॉकडाउन लगाने के संकेत दिए हैं।

वहीं, बिहार के 5 जिलों में से कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। आकड़ों की मानें तो सोमवार को 21 नए मरीज सामने आए हैं, जबकि मंगलवार को 41 और गरुवार को कोरोना को आकड़े बढ़ कर 44 हो गई है। जिससे पूरी संख्या राज्य में बढ़ कर 323 हो गई है। फिलहाल बिहार की राजधानी पटना में कोरोना के 157 एक्टिव केस हैं। आपको बता दें, जिस तरह से राज्य में कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं, उससे सर्तकता बरतनी जरुरी तो है ही, साथ ही साथ टीकाकरण को लेकर भी गंभीरता दिखानी जरुरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *