पटना में सफाई कर्मियों की हड़ताल से जब बीमार पड़ने लगे लोग, तब मोहल्ले के युवाओं ने 5 घंटे में साफ किया 6 KM तक का कचरा

सफाई कर्मियों की हड़ताल से शहर में गंदगी का पहाड़ बनता जा रहा है। गंदगी के कारण लोग बीमार पड़ रहे हैं। ऐसे में पटना के कुछ युवा नजीर बन गए और खुद सफाई का मोर्चा संभाल लिया। रातभर में 6 KM तक का इलाका कचरा मुक्त कर दिया। इस टीम में ऐसे यूथ भी शामिल रहे जिन्होंने कभी अपने घरों में सफाई के लिए झाड़ू तक नहीं उठायी थी। रविवार रात को 5 घंटे तक सफाई अभियान चलाकर युवकों ने एक बड़ी आबादी को कचरे से मुक्ति दिलाई है।

युवाओं का कहना है कि सफाई कर्मियों की हड़ताल से पटना शहर में जगह-जगह गंदगी का ढेर पड़ा है। कोई ऐसा एरिया नहीं बचा है जहां कचरा न फैला हो। 6 दिनों से सफाई कर्मियों की चल रही हड़ताल के कारण घरों का कचरा सड़क पर फैला है। इस पर बारिश होने से कचरे से बदबू निकल रही है जिससे लोग बीमार पड़ रहे हैं। इन बातों को देख मुसल्लहपुर हैट के कुछ युवाओं ने गंदगी की समस्या को लेकर सफाई का प्लान बनाया और रात में अपने मोहल्ले की सड़कों और गलियों को साफ करने का निर्णय लिया। इसके लिए आदी मेहता ने पहल की और 20 से अधिक युवाओं को जुटाया जो सफाई की टीम में जुट गए।

आदी मेहता का कहना है कि रात 11 बजते ही घरों से निकलकर यूथ सफाई में जुट गए। आदी मेहता के साथ संतोष चौधरी, रमेश यादव, विष्णु शर्मा के साथ एक दर्जन से अधिक युवाओं ने मुसल्लहपुर हैट से लेकर भिखना पहाड़ी तक सफाई की। आदी का कहना है कि रात में लगभग 5 घंटे में उनकी टीम ने मुख्य सड़क सब्जी मंडी, छोटे बड़े बाजार और गली मोहल्लों में साफ सफाई की है। रात में 11 बजे से लेकर सुबह लगभग 4 बजे तक सफाई अभियान चलाया गया है।

सफाई करने वाले यूथ का कहना है कि अब सभी को समझ में आ रहा है कि सफाई कर्मचारी कितनी गंदगी हर दिन साफ करते हैं। वह पूरे शहर को बीमारी और संक्रमण से बचाने का प्रयास करते हैं, लेकिन सरकार उनका ध्यान नहीं देती है। अब 6 दिनों से हड़ताल है तो समझ में आ रहा है कि सफाई कर्मी किस मुश्किल से शहर को बचा रहे हैं।

युवाओं का कहना है कि वह सफाई कर्मियों का विरोध नहीं कर रहे हैं क्योंकि वह अपनी जायज मांगों के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। वह तो निगम प्रशासन का विरोध कर रहे हैं जो मनमानी कर रही है। रात में सफाई अभियान में लगे यूथ ने लोगों से अपील की है कि वह सफाई का पूरा ख्याल रखें। जब तक हड़ताल है कचरा फेंकने में सावधानी बरतें। सड़क पर गंदगी नहीं फैलाएं। सड़क पर गंदगी के कारण जानवर इसे और फैलाते हैं, सफाई नहीं होने से यह बड़ी समस्या हो जाती है।

उनका कहना है कि हड़ताल के दौरान साफ-सफाई को लेकर हर घर को विशेष ध्यान रखना है। जब तक सावधानी नहीं रहेगी तब तक संक्रमण का खतरा रहेगा। यह समय सफाई के मैनेजमेंट का है, इस समय में हमे सफाई और कचरा के मैनेजमेंट में ऐसरा काम करना है जिससे संक्रमण का खतरा नहीं हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *