अकेले पड़े चिराग का आगे क्या होगा राजनीतिक कदम, किसी ने साथ आने तो कोई कह रहा टकराने का है अंजाम

पिता रामविलास पासवान की खड़ी पार्टी LJP में अकेले पड़े चिराग पासवान का अब आगे का राजनीतिक कदम क्या होगा यह देखना बहुत दिलचस्प होगा। क्योंकि पिता रामविलास पासवान के निधन के बाद वह अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर थे।  रातों-रात पार्टी में अकेले पड़े चिराग पासवान को पार्टी के नेताओं ने सभी महत्वपूर्ण पदों से बेदखल कर दिया और दूसरा नेता उनके ही चाचा पशुपति कुमार पारस को चुन लिया।

इधर, पार्टी में टूट की खबरों के साथ विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं की प्रतिक्रिया भी आने लगी। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने कहा कि चिराग की करनी के कारण ही LJP में टूट हुई। उन्होंने जैसा बोया, अब उन्हें वैसा ही पाया। वहीं बीजेपी नेता प्रेमरंजन पटेल ने कहा कि LJP में टूट की वजह चिराग पासवान हैं। विधानसभा चुनाव में गठबंधन से अलग होकर लड़े और उसका हश्र काफी बुरा हुआ।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि CM नीतीश कुमार से टकराने का यही अंजाम होता है। विधानसभा चुनाव में उन्होंने खेला किया और अब उनके साथ खेला हो गया। इधर, राजद चिराग पासवान के साथ खड़ा होने का दावा कर रहा है। राजद विधायक भाई वीरेंद्र यादव ने चिराग पासवान को ऑफर दे दिया है। कहा हमारे नेता तेजस्वी यादव के साथ आइए। दोनों भाई मिलकर बिहार का विकास करेंगे। अब देखना होगा कि चिराग पासवान कौन सा राजनीतिक कदम उठाते हैं।      

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *