कैसी व्यवस्था है? कैसा लोकतंत्र है?- पप्पू यादव

Spread the love

बिहार में कोरोना वायरस की रफ्तार रुकने का नाम नहीं ले रही है । रविवार को सूबे में 6,894 नए मामले सामने आए। राहत की बात ये है कि एक दिन में सामने आने वाले नए केस की संख्या में कमी आना जारी है। मरीजों के ठीक होने की दर में सुधार हो रहा है और संक्रमण दर भी कम हो रही है। हालांकि, पिछले 24 घंटे में मृत्यु दर में 21 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है। इस बीच जाप सुप्रीमो ने राज्य सरकार पर निशाना साधा है उन्होंने ट्वीटर पर लिखा है.
यह कैसी व्यवस्था है जिसमें लॉक डाउन में जनप्रतिनिधियों को घरों में कैद कर दिया गया है?अधिकारियों को खुली छूट दे दी गयी है?
तभी तो जब लोग बिना ऑक्सीजन के मर रहे होते हैं तब ये अधिकारी ऑक्सीजन प्लांट लगाने का टेंडर निकालते हैं।धान को गेंहू, लहसुन को मूली बता देते हैं!
गौरतलब है पप्पू यादव 32 साल पुराने एक मामले में न्यायिक हिरासत में हैं.

क्या लिखा है ट्वीटर पर –

“कैसी व्यवस्था है? कैसा लोकतंत्र है?लॉक डाउन में जनप्रतिनिधियों को घरों में कैद कर दिया गया है?अधिकारियों को खुली छूट दे दी गयी है?तभी तो जब लोग बिना ऑक्सीजन के मर रहे होते हैं
तब ये अधिकारी ऑक्सीजन प्लांट लगाने का टेंडर निकालते हैं।धान को गेंहू, लहसुन को मूली बता देते हैं!”

Leave a Reply

Your email address will not be published.