ग्रामीणों ने कपल को नंगा कर बनाया था वीडियो, फिर पुलिस के सामने जंजीरों में बांधे रखा, पुलिस की हुई किरकिरी तो हुई गिरफ्तारी

अररिया जिले की फारबिसगंज थाना पुलिस अपनी किरकिरी होने के बाद एक्शन में आई है। परवाहा वार्ड संख्या सात घिबहा संथाली टोला में शादी-शुदा प्रेमी युगल को नंगा कर वीडियो बनाया गया था। इसके बाद उसे ग्रामीणों ने वायरल कर दिया था। पुलिस के सामने ही पंचायत में प्रेमी युगल को जंजीरों से बांधा दिया गया था। इसके बाद 21 हजार का आर्थिक दंड लगाया गया था। इस मामले में पुलिस ने 6 ग्रामीणों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस के समक्ष पंचायती का वीडियो वायरल होने के बाद फारबिसगंज थाना पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठ रहा था। जिससे फारबिसगंज पुलिस की लगातार किरकिरी हो रही थी। इसके बाद मंगलवार की सुबह गांव में छापेमारी कर मामले में छह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। अररिया एसपी हृदयकान्त से मिले निर्देश के बाद फारबिसगंज एसडीपीओ रामपुकार सिंह ने संभालते हुए फारबिसगंज थानेदार इंस्पेक्टर निर्मल कुमार यादवेन्दु और परवाहा कैम्प प्रभारी विश्वमोहन पासवान के साथ भारी संख्या में पुलिस बल को लेकर गांव में छापेमारी की और मामले में छह को गिरफ्तार किया गया है।

फारबिसगंज पुलिस ने वायरल वीडियो मामले की जांच करते हुए पंचायती में शरीक हुए घिबहा गांव के ही वार्ड संख्या सात के प्रधान मरांडी,राजू मरांडी,श्याम लाल बेसरा,जेठू बेसरा,वार्ड संख्या छह के कारी मुर्मू और मधेपुरा के रहने वाले रविन्द्र हेम्ब्रम को गिरफ्तार किया है। फारबिसगंज एसडीपीओ रामपुकार सिंह ने मामले में जानकारी देते हुए बताया कि छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा है। इसी क्रम में ग्रामीणों ने अवैध सम्बन्ध बनाते दोनों को रंगे हाथ पकड़ कर आपस मे ही पंचायती कर सजा दे दिए जाने की बात कही।उन्होंने कहा कि पुलिस जानकारी मिलने के बाद एक्शन में आई और मामले में छह लोगों को वायरल वीडियो के साक्ष्य के आधार पर गिरफ्तार किया है। बाकी अन्य आरोपियों की भी जल्द गिरफ्तारी की जायेगी। एसडीपीओ ने प्रेमी युगल के नग्न वीडियो बनाकर वायरल करने की बात को स्वीकार किया है।

परवाहा वार्ड संख्या सात की रहने वाली एक शादीशुदा महिला को ग्रामीणों ने एक दिन पहले देर रात अवैध सम्बन्ध बनाते रंगे हाथ पकड़ लिया था। जिसके बाद दोनों को ग्रामीणों ने नंगा कर वीडियो बनाया और फिर जंजीर से जकड़ कर आपस मे पंचायती कर दोनों को 21-21 हजार रुपये की आर्थिक दंड की सजा सुनाई। जिस समय पंचायती हो रही थी, उस समय फारबिसगंज थाना पुलिस और परवाहा कैम्प पुलिस सूचना मौके पर पहुंची थी। लेकिन पुलिस पंचायती के दौरान किसी तरह का एक्शन न कर मूकदर्शक बनी रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *