UP चुनाव में छात्र जनशक्ति परिषद करेगा अखिलेश यादव का समर्थन, संगठन के युवाओं को ट्रेनिंग भी दिलवाएंगे तेजप्रताप

लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव द्वारा गठित छात्र जनशक्ति परिषद किसी तरह की हिंसक क्रांति की जगह अपने तरीके से लड़ाई लड़ने वाला संगठन होगा। इसकी सदस्यता भी युवा तेजी से ले रहे हैं। शुरुआती कुछ घंटों में ही हजार सदस्य इसमें शामिल हो गए थे। जानकारी है कि छात्र जनशक्ति परिषद उत्तरप्रदेश चुनाव में अखिलेश यादव के समर्थन और योगी के विरोध में पहली बार अपनी राजनीतिक ताकत दिखाएगा। संगठन से जुड़े युवाओं को तेजप्रताप यादव ट्रेनिंग भी दिलवाएंगे। लालू प्रसाद की जो राजनीतिक छवि है उसी छवि को तेजप्रताप यादव अपनाते हुए आगे बढ़ने की तैयारी में हैं। भारतीय जनता पार्टी और हिन्दूवादी नीतियों का विरोध करते हुए सामाजिक न्याय और आपसी सदभाव की राजनीति को आगे बढ़ाने के लिए तेज ने अपने नए संगठन छात्र जनशक्ति परिषद् का गठन किया है।

छात्र राजद के अध्यक्ष आकाश को जब हटाया गया तो तेज से पूछा भी नहीं गया था जबकि तेज का कहना है कि वे छात्र राजद के संरक्षक रहे हैं। इस बार नए छात्र संगठन में उन्होंने खुद को राष्ट्रीय अध्यक्ष भी घोषित कर दिया है। इस संगठन में उन्हें कोई रोकने-टोकने वाला भी नहीं है। वे अपने तरीके से प्रदेश अध्यक्ष भी बनाएंगे और इसे राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने में पूरी ताकत झोंकेंगे।

इन दिनों अपने पिता लालू प्रसाद द्वारा बनाई पार्टी राजद में अलग-थलग किए जा रहे हैं। उनके हिटलर वाले बयान के बाद पार्टी के अंदर उथल-पुथल जैसी स्थिति हो गई। उनके चहेते आकाश को हटा दिया गया और गगन कुमार को छात्र राजद का अध्यक्ष बना दिया गया। तेजप्रताप की किसी मांग पर कोई सुनवाई नहीं की गई। अब तेज प्रताप ने छात्र जनशक्ति परिषद् का गठन कर दिया है। पार्टी में छात्र राजद संगठन पहले से मौजूद है इसके बावजूद उन्होंने यह छात्र जनशक्ति परिषद् बनाया है। कहने को वे भले कह रहे हैं कि कि यह परिषद्, राजद का बैक बोन होगा। लेकिन, राजनीति की कमजोर समझ रखने वाला भी जान रहा है कि आर-पार की लड़ाई चल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *