शिकंजे में आए दो घूसखोर अफसर, मोतिहारी में एग्जीक्यूटिव इंजीनियर और अरवल में असिस्टेंट मैनेजर गिरफ्तार

Spread the love

इस समय बिहार के मोतिहारी और अरवल से बड़ी खबर सामने आ रही है। कोरोनाकाल में पूरी तरह से शांत बैठी निगरानी अन्वेषण ब्यूरो (विजलेंस) की टीम अब सक्रिय हो गई है। विजिलेंस की टीम ने आज दो जगहों पर रेड मारी। इसमें घूस की रकम के साथ दो अफसर समेत तीन लोग गिरफ्तार कर लिए गए। बता दें कि बिहार में जब कोरोना अपने पिक पर था, तो उस समय विजिलेंस की टीम भी शांत बैठी हुई है। सरकार ने जब अनलॉक प्रक्रिया शुरू की, तो घूस को लेकर शिकायतें भी आने लगीं। इसको लेकर विजिलेंस ने दो जगहों पर छापेमारी की और सफलता हासिल की। पहली रेड अरवल जिले में मारी गई, जहां से फूड कॉरपोरेशन के असिस्टेंट मैनेजर को गिरफ्तार किया गया। उनके पास से घूस के 25 हजार रुपए भी बरामद किए गए।

वहीं विजिलेंस की टीम ने दूसरी रेड मोतिहारी में मारी। ग्रामीण कार्य विभाग के सिकरहना डिवीजन के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर रामचंद्र पासवान को 80 हजार रुपए घूस लेते हुए रंगेहाथ पकड़ा। साथ ही दलाली का काम करने वाले डाटा ऑपरेटर शशि कुमार श्रीवास्तव को भी दबोच लिया गया है। बाद में टीम ने जब एग्जीक्यूटिव इंजीनियर के घर की जांच की तो उसके बेड (बिस्तर) के नीचे से 9 लाख रुपए बरामद हुआ। सभी नोट 2000 औ 500 रुपए के हैं। निगरानी की टीम रामचंद्र पासवान के पटना और रांची स्थित घर पर भी रेड कर रही है।   

Leave a Reply

Your email address will not be published.