बगहा में गंडक नदी का जलस्तर बढ़ा, दर्जनों गांवों में घुसा बाढ़ का पानी, लोगों ने मचान पर चढ़कर बचाई जान

नेपाल और बिहार के तराई क्षेत्रों में लगातार हो रही झमाझम बारिश से नदी का जल स्तर बढ़ने लगा है। गंडक नदी ने भारी तबाही मचाई है। इंडो-नेपाल सीमा से सटे झंडू टोला, बिन टोला, कानी टोला में पानी भर गया है। जो जहां हैं, वहीं फंस गया। चकदहवा गांव में भी गंडक नदी का पानी घुसना शुरू हो गया है। अचानक गुरुवार देर रात से बाढ़ का पानी गांव में घुसने लगा और किसी को निकलने का मौका नहीं मिला। कई लोगों ने ऊंचाई पर मचान पर चढ़कर अपनी जान बचाई। लोगों ने बताया- ‘आधी रात के बाद अचानक घुसे बाढ़ के पानी में लोगों का आशियाना डूब गया। पैर रखने के लिए जगह नहीं है। जहां तक नजर जाती है, केवल पानी ही पानी दिखता है। ऐसे में कई लोग मचान में रहने को मजबूर हैं।’ वहीं, वाल्मीकि नगर के टंकी बाजार समेत हवाई अड्डा आदि जगहों पर बारिश का पानी घरों में घुस गया है।

गंडक बराज में गुरुवार रात 12 बजे 1 लाख 4 हजार क्यूसेक पानी था, जो पिछले 7 घंटे में बढ़कर 4 लाख 4 हजार हो गया है। पिछले 7 घंटे में 2 लाख 38 हजार क्यूसेक पानी की बढ़ोतरी गंडक बराज में देखी गई। दियारा क्षेत्रों में बाढ़ का पानी घुसने लगा है। इधर, लगातार हो रही बारिश ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। गंडक बराज से छुटा पानी अब तक बगहा के आसपास में पहुंचने लगा है। इसके कारण निचले इलाके के लोगों की परेशानी बढ़ जाएगी। हालांकि, प्रशासन की तरफ से निचले इलाके के लोगों को अलर्ट जारी करते हुए नदी की ओर नहीं जाने के लिए कहा है। प्रशासन लोगों को लगातार अलर्ट कर रहा है। झंडू टोला में स्थित SSB कैंप में भी लगभग 3 फीट पानी घुस गया है। इसके कारण काफी परेशानी हो रही है। वहीं, बारिश का पानी वाल्मीकि नगर के टंकी बाजार, हवाई अड्डा के आसपास के घरों में पानी घुस गया है। अचानक आई बाढ़ से लोगों का जनजीवन अस्त व्यस्त हो चला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *