JDU नेता को BJP सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल से जान का खतरा, लोकसभा अध्यक्ष तक पहुंचा मामला

जनता दल यूनाइटेड के नेता कामेश्वर सिंह का स्कॉर्पियो हथियाने के मामले में बीजेपी सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल की मुश्किलें अब और ज्यादा बढ़ती दिख रही हैं। कामेश्वर सिंह ने सांसद की तरफ से स्कॉर्पियो हथियार जाने की शिकायत लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से की है। जेडीयू नेता ने बीजेपी सांसद के कारनामे से जुड़ा एक पत्र लोकसभा अध्यक्ष को भेजा है। इसमें आरोप लगाया गया है कि बीजेपी सांसद सिग्रीवाल को संसद की पेट्रोलियम कमेटी से हटाया जाए। लोकसभा अध्यक्ष से यह मांग करते हुए जेडीयू नेता ने कहा है कि बीजेपी सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल दूसरे लोगों का भया दोहन करके उन्हें मानसिक और आर्थिक रूप से परेशान ना कर पाए इसके लिए यह बेहद जरूरी है।

जेडीयू प्रदेश सलाहकार परिषद के सदस्य कामेश्वर सिंह ने बीजेपी सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल के ऊपर आरोप लगाया है कि उन्होंने चुनाव के दौरान क्षेत्र घूमने के लिए स्कॉर्पियो बीजेपी सांसद को दिया था लेकिन जब चुनाव के बाद स्कॉर्पियो वापस लौटाने के लिए कहा तो बीजेपी सांसद को परेशानी हो गई। कामेश्वर सिंह ने लोकसभा अध्यक्ष को लिखे पत्र में कहा है कि सिग्रीवाल ने मुझसे चुनाव क्षेत्र में घूमने के लिए स्कॉर्पियो लिया था। हमने खरीदकर उन्हें स्कॉर्पियो दी लौटाने के लिए कहा तो मेरे खिलाफ ही शुरू हो गए। मेरे पेट्रोल पंप पर तीन बार छापेमारी हुई। जेडीयू नेता ने बीजेपी सांसद से अपनी जान पर खतरा बताया है उन्होंने कहा है कि मेरे बेटे की जान को भी खतरा है।

जेडीयू नेता कामेश्वर सिंह के मुताबिक उन्होंने 17 अगस्त 2020 को सिग्रीवाल को स्कॉर्पियो खरीद कर दी। उनसे मेरे बहुत निकट के संबंध रहे हैं। चुनाव में घूमने के लिए उन्होंने गाड़ी मांगी थी। मैंने अपने बेटे के नाम पर किश्त में स्कॉर्पियो खरीदी। चुनाव के बाद मैंने उनसे गाड़ी वापस मांगने शुरू की लेकिन वह लौटाने के लिए नई-नई तारीख बताते रहे। मैंने स्कॉर्पियो वापस लेने के लिए कई लोगों से मैसेज भी दिलवाया लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। हर महीने मैं गाड़ी की किश्त भरता रहा लेकिन आखिरकार मुझे पता चला कि गाड़ी बिहार से बाहर भेज दी गई है। जब उन्होंने अपनी स्कॉर्पियो वापस मांगने शुरू की तो उनके पेट्रोल पंप पर तीन बार छापे डलवाए गए। जेडीयू नेता के मुताबिक 18 अगस्त को मेरे बेटे के मोबाइल पर स्कॉर्पियो की सर्विसिंग के लिए एक मैसेज आया। पता चला कि गाड़ी बेंगलुरु के यशवंतपुरम में है। कोई उपाय कर मैंने पुलिस में शिकायत की, पुलिस गाड़ी ले आई। पुलिसिया तहकीकात में पता चला कि डॉ सचिन कुंद्रा गाड़ी बनवाने आया था। सचिन कुंद्रा सिग्रीवाल के बेटे राज सिग्रीवाल का दोस्त है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *