मुजफ्फरपुर से जुड़े कानपुर धर्मांतरण केस के तार, जांच के लिए पहुंची ATS की टीम

यूपी के कानपुर में एक मूक बधिक स्कूल के छात्र आदित्य गुप्ता के हिन्दू से मुस्लिम धर्म में धर्मांतरण मामले में जांच की कड़ी मुजफ्फरपुर से जुड़ गयी है. यूपी एटीएस की टीम मुजफ्फपुर में कैम्प कर रही है. एटीएस के चार अधिकारी मुजफ्फरपुर में रागिब आलम नामक युवक से पूछताछ करने मुजफ्फरपुर आए हैं. रागिब हथौरी थाना क्षेत्र के मुखिया इफ्तेखार आलम का बेटा है. एटीएस ने रागिब आलम और इफ्तेखार आलम से हथौरी थाने और फिर मुख्यालय में बुलाकर पांच घंटे तक पूछताछ की है. इसकी पुष्टि रागिब के पिता इफ्तेखार आलम ने की है.

जिले के एसएसपी जयंतकांत नें फोन कॉल पर इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि गाजियाबाद थाने में धर्मान्तरण के दर्ज मुकदमे में रागिब आलम नामक युवक से पूछताछ करने यूपी एटीएस आई हुई है, वहीं रागिब के पिता इफ्तेखार आलम ने बताया है कि एटीएस नें पूछताछ के दौरान रागिब का मोबाइल और लैपटॉप ले लिया है और उसे लखनऊ ले जाने की बात कही है लेकिन परिजनों ने इसके लिए एटीएस से नोटिस देकर ले जाने की बात कही है जिसका नोटिस उन्हें अभी तक नहीं दिया गया है.

रागिब के पिता ने बताया कि वह बचपन से मूक बधिर इंसान है. रागिब ने मूक बधिर विद्यालय से काफी पढाई की है. पिता के मुताबिक रागिब नें दसवीं तक की पढाई पटना के आशादीप मूक बधिर स्कूल से की उसके बाद आईकॉम की पढाई इंदौर के एक स्कूल से की. उसके बाद वो नोयडा स्थित डीफ एन्ड डम्ब स्कूल गया जहां से उसने हिन्दी और अंग्रेजी भाषा के साथ कम्प्यूटर की पढाई की. वहीं से उसका सेलेक्शन कानपुर के ज्योति मूक बधिर स्कूल के लिए बतौर टीचर किया गया. रागिब वर्ष 2018-19 में वहां टीचर था. उसी स्कूल के छात्र आदित्य गुप्ता ने धर्म परिवर्तन करके इस्लाम को स्वीकार कर लिया है. फिलहाल एटीएस जिले में है. यूपी धर्मान्तरण के मुजफ्फरपुर कनेक्शन की बात उगाजर होने से सरगर्मी बढ़ी हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *