बेतिया के गौनाहा में दो गांवों के बीच बने पुल को बहा ले गई नदी, दो भागों में बंटी 3 हजार की आबादी

बेतिया के गौनाहा प्रखंड का मरजदी मरजादपुर गांव गुरुवार को दो भागों में बंट गया। नदी के दोनों तटों पर बसे 225 घरों की करीब 3 हजार आबादी भी बंट गई। ग्रामीणों ने बताया कि गुरुवार को अचानक कटहा नदी उफान पर आ गई और दोनों गांवों के बीच बने पुल का पूर्वी एप्रोच बहा ले गई। इस वजह से गांव दो भागों में बंट गया है।

यहां बता दे कि गौनाहा प्रखंड के माधोपुर एवं भितिहरवा पंचायत के एक-एक वार्ड को मिलाकर बने मरजदी मरजादपुर गांव पूरी तरह से चारों ओर से नदियों से घिरा हुआ है। यहां आने का एकमात्र साधन नदी पैदल पार करना ही है। इसके अलावा भी कटहा नदी मरजदी और मरजादपुर के बीचोंबीच होकर बहती है। 16 जून को आई बाढ़ गांव के बीचोंबीच बह रही नदी पर बने पुल का पश्चिमी एप्रोच बहा ले गई थी, जिसे फ्लड फाइटिंग के तहत जियो बैग से एंटी एरोजन कार्य कराकर आवागमन बहाल किया गया था।

इधर, रात से ही हो रही मुसलाधार बारिश की वजह से कटहा नदी में आई उफान के कारण मरजदी मरजादपुर के बीच बने पुल का पूर्वी एप्रोच बह गया है। ग्रामीणों की मानें तो नदी की धारा इतनी तेज है कि कब किसका घर कट जाए, कहना मुश्किल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *