पटना में रातभर हुई बारिश, विधानसभा परिसर समेत कई VIP एरिया जलमग्न, सरकार का दावा निकला खोखला

मानसून की बारिश से एक बार फिर राजधानी पटना पर संकट मंडराने लगा है. पंजाब से लेकर बंगाल की खाड़ी तक चक्रवातीय संरचण बनने के कारण शुक्रवार को बिहार के कई इलाकों में बारिश जारी रही. पटना में देर रात तक बारिश होती रही जिससे राजधानी की सड़कें पानी से घिर गयी है. पटना में शुक्रवार रात एक बजे से आज सुबह 5 बजे तक 145 एमएम से लेकर 200 एमएम की भारी बारिश हुई है. सबसे कम दानापुर में लगभग 100 एमएम और सबसे अधिक फुलवारीशरीफ में 200 एमएम की बारिश रिकॉर्ड की गई है. पटना के लोगों का अभी से ही सड़कों के बाहर निकलना मुश्किल हो गया है. कई इलाकों में नाले का पानी सड़क पर आने लगा है.

पटना में शुक्रवार को रुक-रुककर बारिश होती रही. एक हिस्से में देर रात बारिश होती रही. राजधानी के तापमान में तो गिरावट हुई लेकिन इस बारिश ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी. कई वीआइपी इलाकों में बारिश का पानी सड़कों पर जमा हो गया. बिहार विधानसभा परिसर भी इस बारिश के बाद जलमग्न दिखा. विधानसभा के मुख्य द्वार से अंदर तक पानी सड़क पर ही लबालब भरा दिखा. शाम को हुई दो से तीन घंटे की पानी ने राजधानी के व्यवस्था की पोल भी खोल दी. अधिकांश क्षेत्रों में मुख्य और संपर्क सड़कों पर पानी जमा हो गया. निचले इलाके में पानी अभी भी जमा हुआ है. गर्दनीबाद का अस्पताल परिसर हो या फिर बाजार समिति के अंदर, पानी हर जगह लबालब भरा दिखा. सूबे में मानसून की सक्रियता में कमी के बाद भी स्थानीय प्रभावों से अभी बारिश के आसार बने ही हुए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *