पटना में 2 दिन पहले जिसका अंतिम संस्कार हुआ वह निकली जिंदा, फेसबुक पर लाइव आकर बोली-जिंदा हैं हम

बिहार की राजधानी पटना से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है जहां 2 दिन पहले जिस लड़की का अंतिम संस्कार हुआ उसी लड़की ने फेसबुक पर लाइव आकरसबको हैरान कर दिया है. इस घटना के बाद से हडकंप मच गया है. दरअसल गौरीचक थाना के अंडारी गांव में 6 जुलाई को हत्या कर फेंके गए किशोरी के शव की पहचान पर सस्पेंस बरकरार है. पहचान का दावा करने पर शव को अंडारी गांव में रह रहे परिजनों को सौंप दिया गया था. किशोरी की मां ने पड़ोसी राकेश कुमार पर अपहरण का आरोप लगाया था कि उसने उनकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया और फिर उसे मार डाला. इतना ही नहीं उसने शव को एक तालाब मैं फेंक दिया था. ग्रामीणों की उस पर नजर पड़ने के बाद पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस ने शव बरामद करने के बाद उसकी पहचान कराई तो किशोरी की मां ने उसे अपनी बेटी बताया. इसके बाद 10 जुलाई को उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया था.

किशोरी की मां हत्यारे की गिरफ्तारी के लिए फरियाद लेकर दर-दर भटक रही थी. इधर थानेदार लालमणि दुबे ने बताया कि किशोरी की मां ने जिस शव का अंतिम संस्कार किया है वह शव उसकी बेटी का नहीं था. क्योंकि उनकी बेटी ने 12 जुलाई को अपने प्रेमी के साथ फेसबुक पर लाइव आकर कहा था कि वह अभी जिंदा है. उसे और उसके प्रेमी को तंग न किया जाए. यह फेसबुक दोस्तों को भी शेयर किया था. थानेदार ने कहा कि जांच के बाद ही मालूम हो पाएगा जिस शव का अंतिम संस्कार किया गया है, वह वाकई में उसी की बेटी का था या नहीं. इसी के साथ सवाल भी खड़ा हो गया है कि अगर वह लड़की जिंदा है तो जिसका दाह संस्कार किया गया वह कौन थी. उसकी हत्या के पीछे किसका हाथ था और कारण क्या था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है जिसके बाद बहुत कुछ स्पष्ट होने की आशंका जताई जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *