सरकार ने छठे चरण की शिक्षक नियोजन प्रक्रिया को रोका, पहले से बनी मेरिट लिस्ट भी बदलेगी

बिहार में चल रही शिक्षक नियोजन प्रक्रिया से अहम खबर सामने आई है। राज्य के सरकारी माध्यमिक-उच्च माध्यमिक यानी हाईस्कूल और इंटर स्कूलों के लिए छठे चरण की नियोजन प्रक्रिया चल रही है। सरकार ने 30 हजार से ज्यादा पदों पर चल रही इस नियोजन प्रक्रिया पर को तत्काल प्रभाव से रोक दिया है। शिक्षा विभाग की तरफ से नियोजन के लिए नया शेड्यूल जारी किया गया है। इसमें एसटीईटी 2011 में सफलता हासिल करने वाले उन अभ्यर्थियों को मौका दिया गया है जो अनट्रेंड हैं, साथ ही साथ बीएड के सेशन 2016-18 में एडमिशन और उसे पास करने वाले अभ्यर्थियों को भी मौका दिया गया है। हालांकि 26 सितंबर 2019 तक के इनका रिजल्ट प्रकाशित होना चाहिए, वह लोग नियुक्ति के लिए आवेदन कर पाएंगे।

हालांकि शिक्षा विभाग ने स्पष्ट किया है कि जिन अभ्यर्थियों ने 1 जुलाई 2019 को शुरू की गई नियोजन प्रक्रिया में नियुक्ति के लिए आवेदन किया था उन्हें फिर से आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी। छठे चरण के नियोजन में माध्यमिक उच्च माध्यमिक नियोजन इकाई की तरफ से तैयार की गई मेरिट लिस्ट भी बदली जाएगी। हाईकोर्ट के निर्देश पर अब इकोनॉमिक्स, पॉलीटिकल साइंस जैसे सब्जेक्ट में ऑनर्स होने पर सोशल साइंस सब्जेक्ट के लिए 5 अंक जोड़ने का फैसला छठे चरण के माध्यमिक-उच्च माध्यमिक शिक्षकों के नियोजन में किया गया है। इसलिए मेरिट लिस्ट में भी बदलाव किया जाएगा। विज्ञान के लिए इतिहास और भूगोल में ऑनर्स होने पर 5 अंक जोड़ने का विभागीय आदेश पहले से लागू था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *