छापेमारी करने घर पहुंचे सिपाही ने कपड़े बदलने के दौरान खींच ली थी आपत्तिजनक तस्वीर, अब करता है ब्लैकमेल

मुजफ्फरपुर की एक महिला को थाना का सिपाही ब्लैकमेल कर रहा है। उसे कॉल कर शाम होने के बाद मिलने को बुलाता है। कहता है, अकेले मिलने आना। तभी तुम्हारी फोटो डिलीट करूंगा। अगर तेज़ बनने की कोशिश की तो फोटो वायरल कर दूंगा। इस हरकत से वह मानसिक तनाव में है। पीड़िता ने सिपाही की पूरी बातों की रिकॉर्डिंग कर मीडिया को दी है और मदद की गुहार लगाई है। आरोपी सिपाही अहियापुर थाने में तैनात है। पीड़िता ने बताया- “पुलिस ने बाइक चोरी के आरोप में घर में छापेमारी की थी। पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसी दौरान उसकी आपत्तिजनक तस्वीर भी खींच ली थी। अब उसी फोटो को वायरल करने की धमकी दे रहा है।

पीड़िता बताती है- “सिपाही रविरंजन के बारे में अहियापुर थानेदार सुनील रजक से शिकायत की थी, लेकिन उन्होंने कोई मदद नहीं की। इससे वह काफी आहत हुई।’ हालांकि, अहियापुर थानेदार सुनील रजक ने बताया- “महिला के आरोप निराधार हैं। रविरंजन ने ही उसके पति को गिरफ्तार कर जेल भिजवाया था। इसलिए उसे फंसा रही है।’ आरोपी सिपाही पीड़िता के वॉट्सऐप नंबर पर भी मैसेज करता था। उसने उसकी तस्वीर भी भेजी थी और कुछ अश्लील बातें लिखी थीं, लेकिन फिर इसे डिलीट कर लिया था। पीड़िता ने इसका स्क्रीन शॉट लिया, लेकिन तब तक वह चैट डिलीट कर चुका था। हालांकि, कुछ मैसेज अभी भी वॉट्सऐप पर सुरक्षित हैं।

सिपाही ने मोबाइल पर महिला से जो बात की है, उसमें कहा है- “थाना के बाहर आना। अकेले ही आना। चालाकी मत करना, वरना हमसे बुरा कोई नहीं होगा। जब महिला ने पूछा कि वहां आने से क्या होगा। इस पर आरोपित ने कहा कि आओगी तब बताएंगे। तुम्हें कुछ देना होगा, फोटो डिलीट करने के लिए। महिला ने कहा कि क्या देना होगा पैसे? उसने कहा कि आने के बाद बताएंगे।’ पीड़िता ने कहा- “जब उसके घर पर छापेमारी की गई थी तो टीम में रविरंजन भी था। वह अपने बच्चे को अस्पताल लेकर जाने वाली थी। इसलिए कमरे में कपड़ा बदल रही थी। तभी सिपाही ने उसकी तस्वीर खींच ली थी। जब पीड़िता थाना पहुंची तो वहां पर उससे नंबर ले लिया और बदतमीजी करने लगा था।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *