लालू के समय बनी दलित बस्तियों को देखने पहुंचे तेजप्रताप, कहा-कैसी सरकार है, CM नीतीश को दया भी नहीं आती

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बड़े बेटे पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव पटना के अदालतगंज, कमला नेहरू नगर दलित बस्ती में पहुंचे। यहां की बच्चियों ने तेजस्वी यादव के आवास पर उनसे मिलकर शिकायत की थी कि वे बहुत बदतर स्थिति में रहती हैं। इसके बाद तेजस्वी यादव साढ़े आठ बजे रात के समय अदालतगंज पहुंचे। उन्होंने लोगों से कहा चिंता मत कीजिए तेजप्रताप के रहते आपलोगों को कोई यहां से नहीं हटाएगा। लोगों का कहना है कि सरकार स्मार्ट सिटी के नाम पर उनलोगों को यहां से हटाना चाहती है। मोबाइल के टॉर्च की रोशनी के बीच उन्होंने उन भवनों का हाल देखा जिसे उनके पिता लालू प्रसाद ने बनवाया था। दलित बस्ती में उनके पहुंचने से बिहार का नेता कैसा हो लालू यादव जैसा हो… तेज-तेजस्वी जिंदाबाद के नारे लोगों ने लगते रहे।

अदालतजंग के लोगों के रहन-सहन को उन्होंने देखा। यहां स्थित स्वास्थ्य केन्द्र में उन्होंने पाया कि अस्पताल खुला है, लेकिन उसमें न तो डॉक्टर हैं और न कोई नर्स। लोगों ने बताया कि किसी को कोई दिक्कत होती है तो ठेला पर लाद कर मरीज को PMCH ले जाते हैं। लोगों ने उन्हें बताया कि 1994 में इस बस्ती में आग लग गई थी और तब सरकार ने घर बनाने लिए पैसे दिए थे, लेकिन अब इन भवनों की स्थिति काफी जर्जर हो चुकी है। सरकार मेंटनेंस नहीं करवा रही है। कई कमरों की छत से बड़े-बड़े आकार के टुकड़े गिरते रहते हैं। महिलाओं ने बताया कि यहां बहुत खतरनाक स्थिति है। कभी भी कुछ हो सकता है। तेजप्रताप ने ऊपरी मंजिल पर जाकर भी लोगों का हाल देखा।

जब भी कोई महिला भवन की जर्जर स्थिति की बात तेजप्रताप को बताती तो तेज कहते- सरकार पूरी तरीके से फेल हो चुकी है। लोग उनसे कहते सुने गए कि लालू प्रसाद जी के बाद कोई इसे देखने नहीं आया। सरकार कोई सुनवाई नहीं कर रही है। तेजप्रताप यादव एक जगह कहते दिखे, ‘कैसी सरकार है इन लोगों पर दया भी नहीं आती!’ खुले पड़े खतरनाक नाले के बगल से जब तेज गुजरे तो कहा कि सरकार को इस सब की मरम्मत करानी चाहिए, लेकिन फेल हो चुकी है सरकार बिहार में। वे गुजराती मुहल्ले की तरफ भी गए और वहां के लोगों से भी मिले। लोगों ने उनसे शिकायत की कि स्मार्ट सिटी के नाम पर उन्हें यहां से हटाने की बात सरकार कर रही है। इस पर तेज ने कहा कि तेजप्रताप के रहते कोई नहीं हटाएगा…। गरीबों के रहने की व्यवस्था पहले सरकार करे उसके बाद यहां से हटाए। सरकार कुछ नहीं कर रही है, लोगों को रोजगार भी नहीं दे रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *