विरोधियों और समर्थकों को तेजप्रताप ने दिखाया विक्ट्री साइन, इन दिनों वृंदावन में राधाष्टमी मना रहे हैं

वृंदावन में राधाष्टमी मनाने गए तेज प्रताप यादव का विक्ट्री साइन दिखाते फोटो उनके दोस्त चैतन्य पालित ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। इसके अलग-अलग मायने निकाले जा रहे हैं। क्योंकि, अमूमन ये साइन जीतने के बाद या जीत का विश्वास जताने के लिए दिखाया जाता है।

तेज प्रताप वृंदावन में गायों के साथ भी दिख रहे हैं। उन्होंने राजद के वरिष्ठ नेता और भूत पूर्व केन्द्रीय मंत्री रघुवंश बाबू की फोटो पर माल्यार्पण के बाद उन्हें प्रणाम करते हुए फोटो भी शेयर किया है। आपको याद होगा रघुवंश बाबू की तुलना समुद्र के एक लोटा पानी से करने के बाद तेज की बहुत आलोचना हुई थी।

वृंदावन, तेज प्रताप का सबसे फेवरेट धार्मिक स्थल है। पटना में कृष्ण जन्माष्टमी का आयोजन अपने सरकारी आवास पर वह काफी धूमधाम से करते रहे हैं। इस बार इस आयोजन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लालू प्रसाद को भी उन्होंने शामिल किया था। अब वह राधाष्टमी मनाने के लिए वृंदावन में हैं। वहां गौशाला के बाहर वे देखे गए। गाय के बछड़े को दुलारते हुए फोटो भी उन्होंने पोस्ट किया है। वृंदावन में वे अपने नेता वाले ड्रेस को छोड़ पीतांबर में दिख रहे हैं। पीले रंग का कुर्ता और धोती पहने हुए। वे कहते रहे हैं कि गाय में देवताओं का वास होता है। वे खुद को कृष्ण और छोटे भाई नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को अर्जुन भी कहते रहे हैं। यह और बात है कि कुछ दिन पहले ट्विटर से कुरुक्षेत्र वाला वह फोटो उन्होंने हटा दिया, जिसमें कृष्ण सारथी बने दिखे थे और अर्जुन धनुर्धर रुप में। इसकी जगह उन्होंने लोकनायक जयप्रकाश नारायण की फोटो लगा ली।

राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह को हिटलर कहने और छात्र राजद के आयोजन में पोस्टर से तेजस्वी यादव का फोटो गायब होने के बाद छात्र राजद के प्रदेश अध्यक्ष को हटाकर नया प्रदेश अध्यक्ष गगन कुमार को बना दिया गया था। इसके बाद गुस्साए तेज प्रताप ने अपना नया संगठन छात्र जनशक्ति परिषद् का गठन कर लिया। अब नए संगठन के विस्तार में भी वे लग गए हैं। एक दिन पहले उन्होंने छात्र जनशक्ति परिषद् की जरूरत और उसकी सांगठनिक रूपरेखा को एक अपील के माध्यम से सामने रखा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *