पश्चिमी यूपी में गन्ना घोल रहा किसानों के बीच मिठास: गन्ना हुआ और मीठा, पिछले पौने पांच साल में मिलें हुईं अपडेट, बकाया भुगतान भी समय पर मिला,

Spread the love

योगी सरकार ने पश्चिमी यूपी में सपा सरकार से करीब ढाई गुना अधिक किया भगुतान,

पश्चिमी यूपी के गन्ना किसानों को सपा सरकार ने 39,738 करोड़,  तो योगी सरकार ने 95,650 करोड़ रुपए का भुगतान किया

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में गन्ना किसानों के भुगतान को लेकर पिछली कई सरकारों से चली आ रही परिपाटी को बदल दिया है। पहले की अपेक्षा अब गन्ना किसानों को समय पर भुगतान हो रहा है। साथ ही साल दर साल चलने वाली पेंडेंसी पर भी विराम लगा है। पश्चिमी यूपी में सपा सरकार से दुगुने से ज्यादा योगी सरकार ने गन्ना मूल्य का भुगतान किया है। पिछले पौने पांच साल में चीनी मिलें भी अपडटे हुईं हैं। अब वही गन्ना पश्चिमी यूपी में मिठास घोल रहा है। देश में गन्ना और चीनी उत्पादन में प्रदेश न सिर्फ पहले पायदान पर है, बल्कि सीएम योगी ने गन्ना किसानों को पिछली सरकारों की तुलना में ज्यादा भुगतान भी किया है। अब तक सरकार की ओर से प्रदेश में गन्ना किसानों को करीब डढ़े लाख करोड़ से ज्यादा का भुगतान किया है। पश्चिमी यूपी के सहारनपुर, मेरठ, मुरादाबाद और बरेली मडंल में पिछली सरकार ने वर्ष 2012-17 के बीच करीब 39,738 करोड़ रुपए का भुगतान किया था। जबकि योगी सरकार ने 2017 से 29 दिसबंर 2021 तक 95,650 करोड़ रुपए का भुगतान किया है। यानि योगी सरकार ने गन्ना किसानों को पिछली सरकार से करीब ढाई गुना भुगतान किया है। समय से किसानों को पेमेंट मिलने के कारण काफी हद तक किसानों की समस्याएं भी दूर हुई हैं।

फर्क साफ है: पश्चिमी यूपी में गन्ना भुगतान के आकंडे दे रहे गवाही

पश्चिमी यूपी में गन्ना भुगतान की तुलना पिछली सरकार से करने पर फर्क साफ हो जाता है कि योगी सरकार ने भुगतान में कोई कोताही नहीं बरती है। योगी सरकार ने पश्चिमी यूपी में 2017 से 2021 दिसबंर तक सबसे ज्यादा मुरादाबाद  मडंल में 30,645.67 करोड़ रुपए का भुगतान किया है। जबकि सपा सरकार में 18,521.03 करोड़ का ही भुगतान हुआ था। इसी तरह सहारनपुर मडंल में 25,564.02 करोड़ रुपए का भुगतान कया है। जबकि सपा सरकार में 14,628.09 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया था। योगी सरकार ने तीसरे नबंर पर मेरठ मडंल में 22,455.73 करोड़ रुपए का भुगतान किया है। जबकि सपा सरकार ने 13,324.50 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया था।

गन्ना मूल्य भुगतान में प्रदेश में पिछले सारे रिकार्ड टूटे

योगी सरकार ने पूरे प्रदेश में पेराई सत्र 2021-22 में 4,907.98 करोड़, 2020-21 में 30,547.23 करोड़, पेराई सत्र 2019-20 में 35,898.85 करोड़, 2018-19 में 33,048.06 करोड़ और 2017-18 के 35,444.06 करोड़ रुपए का भुगतान किया है। साथ ही पिछले पेराई सत्रों का 10,661.38 करोड़ सहित अब तक कुल 1,50,508 करोड़ का गन्ना मूल्य भुगतान कराया है, जो वर्ष 2012 से 2017 के बीच गन्ना मूल्य भुगतान के मुकाबले 55,293 करोड़ और वर्ष 2007 से 2012 के बीच गन्ना मूल्य भुगतान के मुकाबले 98,377 करोड़ अधिक है।

पश्चिमी यूपी का मडंलवार भुगतान

मडंल – 2012-17 – 2017 से 29 दिसबंर 2021 तक

सहारनपुर – 14,628.09 – 25,564.02

मेरठ – 13,324.50 – 22,455.73

मुरादाबाद – 18,521.03 – 30,645.67

बरेली – 9,934.80 – 16,985.24

कुल – 39738.42 – 95650.66

(नोट- धनराशि करोड़ में है)

अब देखना यह होगा कि योगी सरकार द्वारा किसानो को दिया गया ये लाभ आने वाले चुनाव में किसानो को योगी सरकार की और आकर्षित कर पायेगा कि नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published.