श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने जमीन विवाद पर दी सफाई

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से राम मंदिर निर्माण के लिए खरीदी गई जमीन पर घोटाले के आरोप लगे हैं. ये आरोप अयोध्या के पूर्व सपा विधायक और पूर्व मंत्री तेज नारायण पांडे उर्फ पवन पांडे ने लगाए हैं आम आदमी पार्टी ने भी राम मंदिर निर्माण के लिए खरीदी गई जमीन पर सवाल खड़े किये हैं इस बीच ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने एक बयान जारी कर कहा है कि राम मंदिर निर्माण के लिए अभी तक जितनी भी जमीनें खरीदी गई हैं, उनकी कीमत खुले बाजार से काफी कम है. दरअसल, रविवार को पवन पांडे ने दो करोड़ रुपए में बैनामा कराई गई जमीन को 10 मिनट के अंदर 18.50 करोड़ रुपए में रजिस्टर्ड एग्रीमेंट कर दिया गया. उन्होंने कहा कि 12080 वर्ग मीटर यानि 1.208 हेक्टेयर जमीन का बैनामा और एंग्रीमेंट हुआ. बाबा हरिदास ने सुल्तान अंसारी और रवि मोहन तिवारी को बेचा और उसी को ट्रस्ट ने 18.50 करोड़ रुपए में खरीदा. 10 मिनट में जमीन की कीमत 16 करोड़ कैसे बढ़ गई? ये बैनाम और रजिस्टर्ड एग्रीमेंट 18 मार्च 2021 को किया गया था.

ट्रस्ट ने देर रात जारी किया बयान-

इन आरोपों पर देर रात श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव और वीएचपी के नेता चंपत राय की ओर से एक बयान जारी किया गया. चंपत राय ने कहा, ” मंदिर परिसर के पूर्व और पश्चिम दिशा में यात्रा को सुलभ बनाने औऔर मंदिर परिसर की सुरक्षा के लिए कुछ छोटे-बड़े मंदिर और गृहस्थों के मकान खरीदने जरूरी हैं. जिनसे मकान खरीदा जाएगा, उन्हें पुनर्वास के लिए जमीनें दी जाएंगी. इस काम के लिए भूमि की खरीदारी की जा रही है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *