प्राइमरी टीचर्स के लिए दूसरे फेज की काउंसलिंग 2 अगस्त से, देखें अपने जिले का शेड्यूल

बिहार में लंबे समय से स्थगित प्रारंभिक स्कूलों के लिए 94000 पदों पर शिक्षक बहाली प्रक्रिया में अब लगातार तेजी देखी जा रही है. छठे चरण के पहले राउंड की समाप्ति के बाद शिक्षा विभाग ने दूसरे राउंड का शेड्यूल भी जारी कर दिया है. प्रारंभिक शिक्षकों (यानि कक्षा एक से आठ तक) के 94 हजार पदों पर चल रही नियुक्ति प्रक्रिया के तहत दूसरे चरण में अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग की तारीख शिक्षा विभाग ने जारी कर दी है. शेड्यूल के मुताबिक 2 अगस्त से 13 अगस्त के बीच काउंसिलिंग की प्रक्रिया चलेगी. नगर निकाय की नियोजन इकाई के लिए 2, 4 और 5 अगस्त को जिला मुख्यालय में काउंसिलिंग होगी जबकि 2 अगस्‍त को कक्षा 6 से 8 तक के लिए सामाजिक विज्ञान और 4 अगस्त को गणित, विज्ञान एवं भाषा विषय के लिए काउंसिलिंग होगी. कक्षा 1 से पांच के लिए 5 अगस्त को काउंसिलिंग होगी. इसी प्रकार प्रखंड नियोजन इकाई की काउंसिलिंग जिला मुख्यालय में ही 7, 9 और 10 अगस्त को होगी. कक्षा 6 से 8 के सामाजिक विज्ञान के लिए 7 को और गणित, विज्ञान एवं भाषा विषय के अभ्यर्थियों के लिए 9 को काउंसिलिंग होगी. पहली से पांचवीं तक के अभ्यर्थियों की दस अगस्त को काउंसिलिंग होगी. पंचायत नियोजन इकाइयों की काउंसिलिंग कक्षा एक से पांच के लिए प्रखंड मुख्यालयों में 13 अगस्त को होगी.

शिक्षा विभाग की मानें तो पहले चरण में जिन नियोजन इकाइयों में काउंसिलिंग नहीं हुई या जहां काउंसलिंग में गड़बड़ी के आरोप में उसे रदद् किया गया है, वहां के लिए यह शिड्यूल जारी किया गया है. शिक्षा विभाग ने जारी आदेश में यह भी कहा है कि अंतिम मेधा सूची के आधार पर ही काउंसिलिंग कराई जाएगी. जहां पर अंतिम मेधा सूची का प्रकाशन नहीं हुआ है या कोई कठिनाई है, वैसे नियोजन इकाइयों में तीसरे चरण में काउंसिलिंग की तिथि निर्धारित की जाएगी. इसके लिए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित डीएलएड परीक्षा उत्तीर्ण अभ्यर्थियों के लिए मूल अंक-पत्र लाना अनिवार्य होगा. बिहार में वर्ष 2019 से यह प्रक्रियाधीन है और विज्ञापन जारी होने के बाद ही मामला हाईकोर्ट में पहुंच जाने के बाद पूरी प्रक्रिया को स्थगित कर दिया गया था. हाईकोर्ट से हरी झंडी मिलने के बाद फिर से प्रारंभिक शिक्षक बहाली प्रक्रिया शुरू हुई है. हालांकि, इस बार फुल प्रूफ सिस्टम डेवलप कर सभी नियोजन इकाइयों को ऑनलाइन किया गया है और सरकार का दावा है कि पारदर्शी तरीके से काउंसिलिंग की जा रही है. इस बीच कई नियोजन इकाइयों के खिलाफ कार्रवाई भी की गई है. शिक्षा विभाग का लक्ष्य है कि 15 अगस्त तक पूरी प्रक्रिया समाप्त कर अभ्यर्थियों को ज्वाइनिंग लेटर दिया जा सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *