बिहार में 6 जुलाई के बाद खोले जा सकते हैं स्कूल और कॉलेज, जानें क्या बोले शिक्षा मंत्री

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की वजह से राज्य के शैक्षणिक संस्थानों की चल रही बंदी जुलाई के पहले सप्ताह के बाद समाप्त हो सकती है। बिहार में 6 जुलाई को अनलॉक-3 समाप्त हो रहा है और इसके बाद शैक्षणिक संस्थानों को खोले जाने की तैयारियां आरंभ हो गई हैं। हालांकि इसपर अंतिम मुहर आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में लगेगी, लेकिन शिक्षा विभाग ने इसको लेकर तैयारी आरंभ कर दी है।

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी के मुताबिक, 6 जुलाई के बाद स्थिति की समीक्षा कर शैक्षणिक संस्थान चरणबद्ध तरीके से खोले जाएंगे। मंत्री श्री चौधरी ने पहले भी कहा था कि सरकार और शिक्षा विभाग दोनों की चाहत है कि बच्चों की शैक्षिक गतिविधियों में टूट या अंतराल जितना कम हो, उनके कॅरियर नर्माण के लिए उतना ही अच्छा रहेगा। इसलिह कोरोना संक्रमण में सुधार की वर्तमान स्थिति बरकरार रहती है तो 6 जुलाई के बाद सबसे पहले उच्च शैक्षणिक संस्थान खोले जायेंगे। यानी शोध, प्रशिक्षण निदेशालयों के साथ ही विश्वविद्यालय, महाविद्यालय में गतिविधियां आरंभ होंगी। उसके बाद माध्यमिक-उच्च माध्यमिक स्कूल खुलेंगे। अगले चरण में मध्य विद्यालय और सबसे अंत में प्राथमिक विद्यालय खोले जाएंगे। गौरतलब है कि 5 अप्रैल से प्रदेश के सभी शैक्षिणक संस्थान बंद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *