STET रिजल्ट पर पटना में हंगामा, बिहार बोर्ड ऑफिस का गेट तोड़ अंदर घुसे प्रदर्शनकारी, सीवान-गोपालगंज में भी बवाल

इस समय बिहार से बड़ी खबर सामने आ रही है। STET2019 रिजल्ट और मेरिट लिस्ट को लेकर राजधानी पटना में छात्र संगठनों का प्रदर्शन नहीं रुक रहा है। पटना में AISA और इंकलाबी नौजवान सभा के सदस्य सड़कों पर उतर आए। STET 2019 के मेरिट लिस्ट के विरोध में शुक्रवार को बिहार बोर्ड में जमकर प्रदर्शन किया और मेन गेट को तोड़ कर जबरन कार्यालय में घुस गए। बाद में स्थानीय थाने की पुलिस पहुंची और मामले को संभाला। 4 बजे बोर्ड के साथ बातचीत के आश्वासन पर प्रदर्शन थमा। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि STET का मेरिट लिस्ट शिक्षक अभ्यर्थियों के साथ धोखा है। अंधेरे में रखकर रिजल्ट जारी किया गया है। पूरे बिहार में इसको लेकर जबरदस्त गुस्सा है। जब सरकार ने पेपर-1 और पेपर-2 का रिजल्ट जारी करते हुए कहा कि तमाम उत्तीर्ण अभ्यर्थियों की नौकरी पक्की है, फिर क्यों अधिकतर उत्तीर्ण अभ्यर्थी मेरिट लिस्ट से बाहर हो गए। ये पूरी तरह से अभ्यर्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ है।

हम सरकार से मांग करते हैं कि शिक्षक बहाली प्रक्रिया में पूरी पारदर्शिता अपनाई जाए और विषयवार, कोटिवार उत्तीर्ण अभ्यर्थियों की संख्या जारी की जाए। सभी उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को बहाली प्रक्रिया में शामिल किया जाए। इधर, सीवान में STET घोटाला के विरोध में भाकपा-माले और AISA के नेताओं ने जमकर नारेबाजी करते हुए शहर में प्रतिवाद मार्च निकाला। गोपालगंज मोड़ से भाकपा माले के जीरादेई विधायक अमरजीत कुशवाहा के नेतृत्व में AISA के नेताओं ने जेपी चौक, बबुनिया मोड़ होते हुए महादेवा स्थित जिला शिक्षा पदाधिकारी के कार्यालय के बाहर बिहार के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी का पुतला दहन किया। इस दौरान उन्होंने STET घोटाले की जांच कर दोषियों पर करवाई करने की मांग की। इस दौरान भाकपा माले एवं AISA के कई छात्र नेता शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *