बिहार के रेलयात्रियों को राहत, 86 ट्रेनों को चलाने का प्रस्ताव भेजा गया, 2 दिन में चलने लगेंगी 20 पैसेंजर ट्रेनें

बिहार (Bihar), झारखंड (Jharkhand) और यूपी (UP) के रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी है। कोरोना संक्रमण के मामले कम होने के बाद पूर्व मध्‍य रेलवे (East Central Railway) सभी ट्रेनों का परिचालन शुरू करने की तैयारी में जुट गया है। रेलवे जोन की ओर से 86 और ट्रेनों का परिचालन शुरू करने का प्रस्‍ताव रेलवे बोर्ड (Railway Board) को भेज दिया गया है। इस बीच यात्रियों की बढ़ती मांग को देखते हुए 20 नई लोकल मेमू और डेमू पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन अगले एक से दो दिन में शुरू कर दिया जाएगा। रेलवे सभी रूट पर पहले से चलने वाली सभी लोकल ट्रेनों के साथ ही बची हुई एक्‍सप्रेस ट्रेनों को शुरू करने की तैयारी में है।

पूर्व मध्‍य रेलवे के मुख्‍य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि 86 और ट्रेनों को फिर से चलाने के लिए रेलवे बोर्ड से अनुमति मांगी गई है। इसके साथ ही 30 जोड़ी लोकल ट्रेनों का परिचालन एक ही दिन शुरू करने की तैयारी भी चल रही है। रेलवे की ओर से लंबी दूरी की अधिकांश ट्रेनों का परिचालन शुरू हो चुका है। पूर्व मध्य रेल के अंतर्गत कोरोना काल से पहले 307 जोड़ी मेल-एक्सप्रेस तथा 190 जोड़ी पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन किया जाता था। कोविड के बाद पूर्व मध्य रेल के विभिन्न स्टेशनों के लिए फिलहाल 279 जोड़ी मेल-एक्सप्रेस तथा 74 जोड़ी पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है।

दरअसल लोकल ट्रेनों को चलाने के लिए दैनिक यात्री काफी दबाव बना रहे हैं। लोकल ट्रेनें चलाने की मांग को लेकर पटना-आरा रेलखंड के सदिशोपुर स्‍टेशन पर सोमवार को लोगों ने दो घंटे तक मेमू ट्रेन को रोक कर रेल यातायात बाधित किया था। मंगलवार को भी दैनिक यात्रियों ने इसी स्‍टेशन पर दो मेमू ट्रेनों को रोक कर नई दिल्‍ली – हावड़ा मुख्‍य रेल लाइन पर यातायात रोक दिया। इधर, कोरोना संक्रमण का असर घटने के बाद एक्‍सप्रेस ट्रेनों में भी यात्री बढ़ने लगे हैं। कई रूटों की ट्रेनों में तो अगले कुछ हफ्ते तक टिकट उपलब्‍ध ही नहीं है। कोविड के कारण फिलहाल प्रतीक्षा सूची और अनारक्षित यानी जनरल टिकट पर यात्रा करने की अनुमति एक्‍सप्रेस ट्रेनों में नहीं है। इस संबंध में सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि सुरक्षात्मक कदम उठाते हुए कोविड-19 के मद्देनजर यात्रियों के स्वास्थ्य हित में ट्रेनों में सभी डिब्बों को आरक्षित श्रेणी में रखा गया है, ताकि कोरोना संक्रमण से बचाव किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *