ट्विटर की पॉलिसी पर लगातार खड़े हो रहे हैं सवाल

Spread the love

नए IT नियमों पर केंद्र सरकार और ट्विटर के बीच जारी विवाद उस वक्त और गहरा गया, जब ट्विटर ने उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू और संघ प्रमुख मोहन भागवत समेत कई नेताओं के पर्सनल ट्विटर हैंडल से ब्लू टिक हटा दिया। हालांकि, पहले उपराष्ट्रपति, फिर मोहन भागवत और संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार के अकाउंट का ब्लू टिक कुछ देर बाद रीस्टोर कर दिया गया। RSS की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य सुरेश जोशी समेत ज्यादातर पदाधिकारियों के अकाउंट अब ब्लू टिक के साथ दिखाई दे रहे हैं। इस मसले पर ट्विटर ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि ये अकाउंट काफी समय से एक्टिव नहीं थे। इसलिए वेरिफिकेशन पॉलिसी के तहत बिना किसी सूचना के अनवेरिफाई करते हुए इनसे ब्लू बैज हटा दिया गया। यहीं से विवाद शुरू हुआ, क्योंकि दिवंगत पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, कांग्रेस नेता अहमद पटेल, एक्टर इरफान खान समेत कई लोगों के ट्विटर अकाउंट अब भी वेरिफाइड हैं और ब्लू टिक के साथ शो हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.