‘इच्छापूर्ति’ के माध्यम से लोगों ने सीखे बिजनेस के टिप्स, बने पार्टनर

पटना: इच्छापूर्ति डॉट कॉम यानी एक ऐसा प्लेटफार्म जिसका मकसद आपको और आपके सपनों को पूरा करने में आपकी मदद करना है। एक ऐसा मंच जो आपके और आपके परिवार की हर जरूरत का ख्याल रखता है। आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार करने के मकसद से टीयर-2 और टीयर-3 के शहरों में छोटे-छोटे दुकानदारों को एक बड़ा प्लेटफार्म देना ही इसका उद्देश्य है। यह बातें इच्छापूर्ति के एसोसिएट डायरेक्टर पंकज कुमार ने रविवार को पटना के होटल रिपब्लिक में हुए रिजनल कांफ्रेंस में कही। कार्यक्रम में नेशनल सेल्स हेड गौरव एन श्रीवास्तव, अंशु सिंह, अभिषेक कुमार, राहुल सिंह मौजूद थे। अधिकारियों ने बिहार के कोने-कोने से आए रिप्रेजेंटेटिव को संबोधित करते हुए कंपनी के बारे में विस्तार से जानकारी दी। नेशनल सेल्स हेड और एसोसिएट डायरेक्टर ने प्रतिनिधियों को कंपनी की अगली रणनीति की भी चर्चा की।
पंकज कुमार बताते हैं कि इच्छापूर्ति को बिहार में जिस तरीके से रिस्पांस मिल रहा है वह हमारे लिए उत्साहवद्र्धक है। अब तक बिहार के 24 जिलों में अब तक 73 बिजनेस पार्टनर यानी बीओ इससे जुड़ चुके हैं। अब तक पटना, आरा, बक्सर, वैशाली, गोपालगंज, सारण, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर, बेगूसराय, सहरसा, मधेपुरा, सुपौल, पूर्णिया, कटिहार, किशनगंज, गया, बिहारशरीफ, नवादा, बांका, मुंगेर, भागलपुर और अरवल में इसके बीओ ने अपना काम तेजी से शुरू कर दिया है। लोगों में इसके प्रति जागरूकता ने इच्छापूर्ति के लिए संजीवनी का काम किया है।


पंकज कुमार बताते हैं कि पर्यावरण की जागरूकता के लिए और प्रदूषण की समस्या से निजात पाने के लिए इच्छापूर्ति भारत में ई-स्कूटर को जन-जन से जोड़ने का काम कर रहा है। यानी आपको ओला-उबर की तर्ज पर ई-स्कूटर किराये पर उपलब्ध हो सकेगा और आप उसे खरीदना चाहें तो वो भी संभव होगा। इच्छापूर्ति की योजना अप्रैल 2021 तक देश के विभिन्न शहरों में 2300 से अधिक इच्छापूर्ति शॉपिंग मॉल खोलना है। इस मॉल में लोगों की जरूरत का हर सामान उपलब्ध होगा। इस संबंध में कंपनी के चेयरमैन डॉ. संजय सिन्हा बताते हैं कि इच्छापूर्ति का उद्देश्य हर छोटी-बड़ी किराना दुकानों को शॉपिंग मॉल का दर्जा दिलाना है।

कंपनी के प्रबंध निदेशक योगराज शर्मा बताते हैं कि इच्छापूर्ति डॉट कॉम एक नया प्रयोग है जिसमें ग्राहकों को सुविधा और दुकानदारों को लाभ ही लाभ है। पंकज कुमार बताते हैं कि बिहार में नियुक्तियों का काम पूरा हो गया है और हमारी टीम ने काम शुरू कर दिया है। 2019 में ग्रामीण और छोटे दुकानदारों के समूह के साथ मिलकर शुरू हुई यह कंपनी जीजीजे ग्रुप आज कॉरपोरेट वल्र्ड में एक बड़ा नाम बन गई है। आज यह कंपनी अपने साथ जुड़ने वाले हर किसी के सपनों को पूरा करने में उसके साथ कदम से कदम मिलाकर चल रही है जिससे इसका परिवार हर दिन बड़ा होता जा रहा है। कंपनी के तीनों डॉयरेक्टर संजय सिन्हा, योगराज शर्मा और दीपक आचार्य हैं जिन्होंने बिजनेस वल्र्ड में लंबे समय तक प्रमुख कंपनियों का कार्यभार संभाला है और अपने लंबे अनुभव को अब वह लोगों के विकास के लिए इस्तेमाल करना चाहते हैं। इच्छापूर्ति की पैरेंटल कंपनी फ्रंटलाइन गु्रप है जिसका मार्केट कैपिटल 750 करोड़ है और यह मैनेजमेंट फैसिलिटिज, सेक्यूरिटी सर्विसेज, टेलकॉम सर्विसेज, पॉवर जेनरेशन, ऐसेट मैनेजमेंट और सिस्टम इंट्रीगेशन के क्षेत्र में मुख्य रूप से कार्य कर रही है। कंपनी ने इप्छापूर्ति डॉट कॉम की शुरूआत इसी विजन को लेकर की है कि आपके छोटे से दुकान को कैसे एक ऑनलाइन स्टोर में बदला जाए ताकि आपकी मेहनत को पूरी दुनिया में पहचान मिल सके। इप्छापूर्ति डॉट कॉम अपनी सेल्स टीम के साथ आपको पूरी दुनिया से जोड़ेगा और आपकी छोटी सी दुकान एक मॉल के रूप में काम करने लगेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Show Buttons
Hide Buttons