पटना: आईजीआईएमएस ने ब्रेन हैमरेज के 18 मरीजों को लौटाया

Spread the love

Headlines Bihar Desk : इस भीषण सर्दी में अचानक बारिश होने से गुरुवार को शहर के अस्पतालों में मरीजों की संख्या अचानक बढ़ गई। इनमें से सबसे अधिक संख्या ब्रेन हैमरेज, अनियंत्रित बीपी-शुगर के कारण हाथ-पांव में कंपन, वायरल फीवर और सर्दी-खांसी जैसी बीमारियों से पीड़ित मरीज शामिल थे। आईजीआईएमएस में गुरुवार को केवल ब्रेन हैमरेज से पीड़ित 18 मरीज पहुंचे। इनको तत्काल आईसीयू में भर्ती करने की जरूरत थी।

बता दें कि आईसीयू में जगह नहीं रहने के कारण इन मरीजों को लौटा दिया गया। अस्पताल अधीक्षक डॉ. मनीष मंडल ने बताया कि अस्पताल की इमरजेंसी आईसीयू में सिर्फ 24 सीटें हैं। इनमें से सभी पहले से ही फुल हैं। इस कारण मरीजों को पीएमसीएच व अन्य अस्पतालों में जाने की सलाह दी गई।

पटना पीएमसीएच की इमरजेंसी वार्ड में भी गुरुवार को पुरे दिनभर हालात कुछ ऐसी ही थी। वहां भी ब्रेन हैमरेज, बीपी और अनियंत्रित शुगर के मरीज बड़ी संख्या में पहुंचे। इमरजेंसी प्रभारी डॉ. अभिजीत सिंह ने बताया कि प्राथमिक जांच कर जिन मरीजों को भर्ती करने की जरूरत थी, उन्हें भर्ती किया गया, बाकी की जांच कर दवाएं  दी गईं और ठंड से बचाव की सलाह दी गई। कहा कि बेड की कमी के बावजूद एक भी मरीज को पीएमसीएच से लौटाया नहीं जाता है। 

डॉ. मनोज, डॉ. अभिजीत और डॉ. मनीष मंडल ने लोगों को ठंड से बचाव की सलाह दी। कहा कि बारिश के बाद ठंड और बढ़ने की आशंका है। ऐसे में बुजुर्गों, बच्चों और  बीपी, शुगर और हार्ट के मरीजों की विशेष देखभाल करनी होगी। उन्होंने कहा कि लोगों को पूरे शरीर के गर्म कपड़े पहनने चाहिए। पानी हल्का गर्म करकें पिएं। बीपी-शुगर की जांच नियमित कर दवा की खुराक को एडजस्ट कराएं। अगर छाती में दर्द, घबराहट और पसीने का लक्षण दिखे तो फौरन डॉक्टर से दिखाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.