विपक्षी दलों ने कोविड पर सदन के ‘बाहर’ प्रधानमंत्री के संयुक्त संबोधन को लेकर आपत्ति जतायी

विपक्षी दलों ने कोविड पर संसदीय सौंध में सभी सांसदों के लिए प्रधानमंत्री के संयुक्त संबोधन की पेशकश को लेकर रविवार को आपत्ति जतायी और कहा कि संसद का सत्र जारी रहने के दौरान ऐसा करना ‘गैर जरूरी’ होगा और इस कदम का मकसद नियमों को ‘दरकिनार’ करना है।तृणमूल कांग्रेस और माकपा समेत अन्य दलों के नेताओं ने यह भी कहा कि जब कोविड महामारी और इससे संबंधित मुद्दों पर संसद में चर्चा की जा सकती है तो इसके लिए ‘बाहर’ जाने की क्या जरूरत है?सौंध संसद भवन परिसर में स्थित एक अलग भवन है।संसद के मॉनसून सत्र की शुरुआत के एक दिन पहले रविवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 जुलाई को दोनों सदनों के सदस्यों को कोविड महामारी पर संबोधित करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *