जगदानंद सिंह का इस्तीफा, पद छोड़ने के सवाल पर बोले प्रदेश अध्यक्ष-इसका जवाब मेरे पास नहीं…

बिहार की राजनीति में शुक्रवार के दिन सनसनीखेज रहा। बिहार के दो बड़ी पार्टी जदयू और राजद में अंदर ही अंदर बड़े बदलाव हुए। जदयू में जहां संजय सिंह को मुख्य प्रवक्ता के पद से हटाया गया। वहीं दूसरी तरफ राजद में पार्टी के वरिष्ठ नेता और प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इस खबर के बाहर आते ही सियासी हलचल तेज हो गई और तरह-तरह के कयास लगाए जाने लगे। बताया गया कि जगदानंद सिंह ने अपना इस्तीफा पार्टी सुप्रीमो लालू यादव को भेज दिया है। हालांकि आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने जगदानंद सिंह का इस्तीफा मंजूर नहीं किया है।

इसी बीच इस्तीफे की खबर बाहर आते ही मीडियाकर्मी उनसे मुखातिब हुए और खबर की सत्यता को लेकर उनसे बात करनी चाही। हालांकि जगदानंद सिंह ने इस वक्त भी प्रत्यक्ष तरीके से कुछ नहीं कहा और ज्यादा पूछने पर बोले कि ‘इसका जवाब मेरे पास नहीं है’। उनसे सवाल किया गया कि कहीं उन्होनें तेजप्रताप की वजह से तो इस्तीफा नहीं दिया है? कहीं ऐसा तो नहीं कि तेजप्रताप यादव की कोई बात उन्हें खटक गई है और उन्होनें इतना बड़ा फैसला ले लिया। इसपर उन्होनें कहा कि तेजप्रताप से बात कीजिए। उसकी बात का जवाब हम नहीं देंगे। उसने मुझे चाचा कहा था। चाचा कहने पर हम नाराज क्यों होंगे?

वहीं दूसरी तरफ राजद के अंदरखाने से यह खबर भी निकलकर सामने आ रही है कि आलोक मेहता राजद के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे। इसके पहले रामचंद्र पूर्वे की जगह पर जगदानंद सिंह राजद के प्रदेश अध्यक्ष बनाए गए थे। बड़ा सवाल यही है कि अचानक जगदानंद सिंह को पद छोड़ने की जरूरत क्यों आन पड़ी? बता दें कि राजद सुप्रीमो लालू यादव के बड़े लाल तेजप्रताप यादव के व्यवहार से जगदानंद सिंह काफी आहत हैं। कुछ महीने पहले तो तेजप्रताप ने प्रदेश कार्यालय में ही अध्यक्ष जगदानंद सिंह के खिलाफ अमर्यादित शब्दों का प्रयोग किया था। राजद की रजत जयंती के मौके पर मंच पर वक्तव्य देने के दौरान ही तेजप्रताप यादव ने जगदानंद सिंह पर इशारों- इशारों में हमला बोला था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *