दिल्ली दौरे पर बोली कांग्रेस-16 साल से CM, फिर भी आंख दिखाने बाहर गए, राजद बोला-पीएम को तो आंख दिखाने नहीं गए?

इस वक्त राजनीतिक गलियारे से बड़ी खबर सामने आ रही है। CM नीतीश के दिल्ली दौरे पर बिहार में सियासत गर्म हो गई है। अपनी आंख का इलाज कराने सीएम नीतीश कुमार दिल्ली गए हैं। इसकी खुद उन्होंने पुष्टि की है। कहा कि मेरा दौरा निजी है। यह कोई राजनीतिक दौरा नहीं है। इसके बाद विपक्षी दल हमलावर हो गए। साथ ही कई सवाल उठाए हैं। बता दें कि सीएम नीतीश कुमार ने कई बार कहा है कि बिहार में स्वास्थ्य सिस्टम दुरुस्त हो गया है। अब लोगों को इलाज के लिए बाहर जाने की मजबूरी नहीं होगी। पटना में आंख के कई बड़े अस्पताल भी हैं। यहां विशेषज्ञ डॉक्टरों की भी कोई कमी नहीं है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि यह बहुत दुर्भाग्य की बात है कि 16 साल तक बिहार सीएम रहने के बाद भी अपना इलाज के लिए दिल्ली जाना पड़ रहा है। वहीं राजद ने भी स्वास्थ्य सिस्टम पर कई गंभर सवाल उठाए। राजद का कहना है कि हेल्थ सिस्टम बेहतर होने का दावा हमेशा किया गया, लेकिन सीएम खुद इलाज कराने दिल्ली चले गए। प्रेमचंद मिश्रा ने कहा उनकी आंख खराब हो गई है, इसलिए वे राजनीतिक शक्तियों के साथ रह रहे हैं। वे आंख ठीक करा कर लौटे और जिनको आंख दिखाने की जरूरत महसूस कर रहे हैं उन्हें ठीक से आंख दिखा कर आएं।

वहीं राजद नेता और विधान पार्षद सुनील कुमार सिंह ने कहा कि सच कहें तो यह शोध का विषय है कि वे केन्द्र में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर मोदी सरकार को आंख दिखाने तो नहीं गए हैं। कहा जब कई प्रदेश कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने में लगा था, तब नीतीश कुमार लोजपा को तोड़ने में लगे थे। बिहार में बड़ी संख्या में युवा बिना ऑक्सीजन के मारे गए और सरकार कुछ नहीं कर सकी। राजद प्रवक्ता शक्ति सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार आंख दिखाने गए हैं यह उनका निजी मामला है। लेकिन, ऐसे समय में वे गए हैं जब यह मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार होना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *