अब हो जाएं सतर्क, पास से गुजरने पर भी संक्रमित कर देता है कोरोना का डेल्टा प्लस वैरियंट

इस समय कोरोना को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है। लोगों को अब सावधानी बरतने की ज्यादा जरूरत है। आशंकित तीसरी लहर और खतरनाक माने जा रहे डेल्टा प्लस वैरियंट का भी खौफ लोगों में नहीं दिख रहा है। डेल्टा प्लस वैरियंट इतना संक्रामक है कि पास से गुजरने पर भी आपको बीमार कर सकता है। इससे बचाव का एक ही उपाय है कि कोविड प्रोटोकाल को अपनी आदत बना लिया जाए। वहीं, राजधानी की सड़कों, आटो-बसों, बाजारों से लेकर अस्पतालों तक में जगह-जगह लोगों के जमघट के साथ करीब 50 फीसद लोग दोबारा बिना मास्क के दिखने लगे हैं। राजधानीवासियों के इस व्यवहार को देखकर कोरोना से जूझ रहे डाक्टर परेशान हैं। उनका मानना है कि राजधानीवासियों का यही व्यवहार रहा तो तीसरी लहर समय से पहले ही आ सकती है।

एम्स के कोरोना नोडल पदाधिकारी डा. संजीव कुमार के अनुसार, पहली और दूसरी लहर के बजाय तीसरी में कोरोना वायरस बहुत संक्रामक रूप में सामने आने की आशंका है। अबतक माना जा रहा था कि दो गज से कम दूरी पर दो से तीन मिनट रुकने पर संक्रमण की आशंका थी। वहीं, डेल्टा प्लस वैरियंट इतना संक्रामक है कि यदि आप बिना मास्क पहने इस वैरियंट से संक्रमित व्यक्ति के बगल से भी गुजरते हैं तो बीमार हो जाएंगे। इससे बचाव का एक ही उपाय है कि हम सभी सख्ती से कोविड गाइडलाइन की आदत डाल लें। वैक्सीन की दोनों डोज लेकर खुद को सुरक्षित मान रहे लोगों में गंभीर लक्षण भले ही नहीं उभरें, लेकिन वे न केवल संक्रमित हो सकते हैं बल्कि अपनों को भी बीमार कर सकते हैं। जो लोग दो लहर में संक्रमित नहीं हुए हैं, उन्हें यह नहीं मानना चाहिए कि तीसरी लहर में भी सुरक्षित रहेंगे। ऐसे में कोरोना की चेन तोडऩे के लिए जरूरी है कि हर शख्स कम से कम बाहर निकले, जमघट या चौपाल लगाने से बचें, बिना मास्क बाहर नहीं निकलें और मास्क को सही ढंग से पूरे समय पहने रहें। यदि मास्क बीच में उतारना पड़े तो उसकी जगह नया या साफ किया दूसरा मास्क पहनें और हाथों को धोते रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *