नीतीश जी! अपने इस 8PM मेटेरियल विधायक का इलाज कराइये, बिहार को कलंकित करने का इन्हें कोई अधिकार नहीं है

जिस तरह से जदयू विधायक गोपाल मंडल ने तेजस राजधानी एक्सप्रेस में अर्द्धनग्न हालत में यात्रियों के साथ बदसलूकी की। अब इस पर सियासत शुरू हो गई है। इस घटना को लेकर विपक्ष ने सीएम नीतीश कुमार को अपने विधायकों को मर्यादा का पाठ पढ़ाने की नसीहत दे डाली है। जहां राजद ने इस पूरी घटना को शर्मनाक बताते हुए इसके लिए पूरी तरह नीतीश कुमार को जिम्मेदार ठहरा दिया है, वहीं जेल में बंद जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने जदयू विधायक की इस हरकत के बाद उन्हें मानसिक आरोग्यशाला में भेजने की बात कही है।

तेजस राजधानी एक्सप्रेस में गोपालपुर विधायकके अर्द्धनग्न हालत में घूमने पर उपजे विवाद के बाद राजद प्रवक्ता व विधायक भाई बिरेंद्र ने कहा है कि इस तरह की घटनाएं जनप्रतिनिधियों को शोभा नहीं देता है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस पर खुद संज्ञान लेना चाहिए। इस दौरान भाई बिरेंद्र ने यह भी कहा है कि इससे पहले भी एनडीए के जो लोग हैं वह ट्रेनों में हंगामा करते रहे हैं। इन लोगों को आजादी है। इस तरह की काम करने की छूट है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के विधायक के कारण पूरी दुनिया में बिहार को शर्मसार होना पड़ा है। यह ऐसे जनप्रतिनिधि हो गए हैं, जिनके कारण दुनिया में बिहार के लोगों को सम्मान नहीं दिया जाता है। जदयू के विधायक अपनी तमाम विचारधारा को खो चुके हैं।

गोपाल मंडल को लेकर जेल में बंद जाप अध्यक्ष पप्पू यादव ने भी अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने गोपाल मंडल को मानसिक आरोग्यशाला में भेजने की मांग सीएम नीतीश कुमार के कर दी है। पप्पू यादव ने लिखा है कि माननीय CM नीतीश जी, अपने इस 8PM मेटेरियल विधायक का इलाज कराइये। किसी मानसिक आरोग्यशाला में डाल दीजिए। इन्हें अपनी बेहूदगी से बिहार को कलंकित करने का हक किसने दिया है? क्या आपने? बता दें कि तेजस राजधानी में गोपालपुर विधायक गंजी अंडरवियर पहन कर घूम रहे थे, इस दौरान जब यात्रियों ने आपत्ति जाहिर की तो उन्होंने अपने समर्थकों संग उनसे गाली गलौज और मारपीट की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *