NIA टीम पहुंची बेऊर जेल, दरभंगा पार्सल ब्लास्ट मामले में बंद आरोपी सलीम से स्पेशल वार्ड में हो रही पूछताछ

दरभंगा पार्सल ब्लास्ट के आरोपियों से पूछताछ के लिए NIA की टीम आज बेऊर जेल पहुंची। NIA की 6 सदस्य टीम में SP, DSP रैंक के अधिकारी शामिल हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार NIA की टीम जेल में बंद आतंकी सलीम से पूछताछ करेगी। इससे पहले NIA की टीम ने कपिल, नासिर और इमरान से रिमांड पर लेकर पूछताछ कर चुकी है। सलीम की तबीयत खराब रहने की वजह से उसे जेल के अस्पताल सेल में रखा गया है। न्यायालय से आदेश के बाद NIA की टीम सलीम से जेल के अंदर अस्पताल के स्पेशल वार्ड में गहन पूछताछ करेगी। सूत्रों के अनुसार NIA की टीम इससे पहले नासिर, इमरान और कफील से पूछताछ के मामले को सुरक्षित रखा है और आज सलीम से पूछताछ के बाद दोनों की बातों को मिलाकर यह देखना चाह रही है कि किन की बातों में कितनी सच्चाई है। NIA द्वारा सलीम से जेल में पूछताछ के क्रम में काफी सावधानियां बरती जा रही हैं । जेल के बाहरी और भीतरी सुरक्षा को भी चुस्त और चाक-चौबंद कर दिया गया है। स्थानीय थाना भी अलर्ट मोड पर है।

शुक्रवार को NIA ने इमरान और उसके भाई नासिर को ATS दफ्तर से कोर्ट ले गई और दोनों को NIA की विशेष अदालत में पेश किया। NIA की टीम ने दोनों को रिमांड पर लेने के लिए आवेदन नहीं दिया, जबकि सलीम से जेल में पूछताछ के लिए अनुमति मांगी गई है। अदालत ने सलीम से जेल में पूछताछ के लिए NIA को अनुमति दे दी, जिसके बाद आज टीम जेल पहुंची है। गांधी मैदान ब्लास्ट, बोधगया ब्लास्ट, घोड़ासहन ब्लास्ट और अब दरभंगा ब्लास्ट के कुल 20 आरोपी आतंकी बेऊर जेल में बंद हैं। इसके अलावा जेल में 54 नक्सली, 400 सजायाफ्ता जिसमें एक उम्र कैद की सजा काट रहा है। इसके कारण बेऊर जेल की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इन चारों के सेल के आसपास सख्त पहरा लगा दिया गया है। जेल के टावर और चहारदीवारी के पास कारा सुरक्षाकर्मी अलर्ट मोड में हैं। 17 जून को हैदराबाद-सिकंदराबाद एक्सप्रेस से कपड़े का बंडल दरभंगा स्टेशन पर आया था। कपड़े के बंडल को जब प्लेटफार्म पर उतारा गया, वैसे ही जबरदस्त ब्लास्ट हुआ था। शुरू में इस मामले की जांच दरभंगा GRP और RPF की टीम कर रही थी। ATS की टीम भी इसकी जांच में लगी हुई थी, लेकिन बाद में NIA ने जांच का जिम्मा ले लिया। मामला दिल्ली में दर्ज हुआ और उसके बाद इसमें NIA लगातार जांच में जुटी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *