नीरज ने नीतीश व लालू के बीच का फर्क बताया, बोले-अपने कर्मों की सजा भुगत रहे रहे राजद सुप्रीमो

जदयू के मुख्य प्रवक्ता एवं पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने कहा है कि लालू प्रसाद और राबड़ी देवी के 15 वर्षों के शासन में देश और दुनिया में राज्य का अपमान हुआ। दूसरी तरफ देश-दुनिया की कई संस्थाओं ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का सम्मान कर उनके प्रयासों की सराहना की। मुख्यमंत्री को यह सम्मान सामाजिक बदलाव के प्रति उनकी प्रतिबद्धता की स्वीकृति है। पूरी दुनिया ने माना कि नीतीश समाज के अंतिम पायदान तक सुशासन स्थापित करने में कामयाब हैं। बेशक यह सम्मान राज्य के करोड़ों लोगों का है। दरअसल जमानत पर जेल से रिहा होने के बाद लालू की राजनीतिक सक्रियता बढ़ी है। उनके ट्विटर अकाउंट से हर रोज राज्‍य की परिस्थितियों को लेकर ट्वीट किए जाते हैं। उनके सभी ट्वीट राजनीतिक होते हैं, जिनमें वे राज्‍य सरकार की आलोचना करते नजर आते हैं।

नीरज ने कहा कि नीतीश शासन में सामाजिक और आर्थिक स्तर पर बड़े बदलाव हुए। 15 साल तक शासन करने के बाद भी लालू-राबड़ी के किसी काम को सम्मान के लायक नहीं माना गया, बल्कि  अपने शासन के गैरकानूनी कृत्यों की सजा लालू प्रसाद भुगत रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्यक्ष रूप से मिलने वाले सम्मान व अवार्ड के अलावा दुनिया की कई महान हस्तियों ने नीतीश कुमार की तारीफ की है। इन हस्तियों में अमत्र्य सेन जैसे नोबल पुरस्कार जीत चुके अर्थशास्त्री  से लेकर बौद्धों के धार्मिक गुरु दलाई लामा तक शामिल हैं। बिल गेट्स से लेकर एपीजे अब्दुल कलाम जैसे महानायक तक इनमें शामिल हैं। राजद इन दिनों शराबबंदी में खामियों और राज्‍य में बिगड़ती कानून व्‍यवस्‍था को लेकर सरकार पर हमलावर है। लालू ने कहा था कि शराबबंदी की आड़ में सरकार को राजस्‍व का चूना लगाया जा रहा है और सत्‍ताधारी दल के लोग अवैध तरीके से संपत्ति अर्जित कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *