हाजीपुर से उतरेगी पशुपति पारस की पार्टी!, परंपरागत सीट को लेकर राष्ट्रीय लोजपा ने NDA में किया दावा

Spread the love

24 सीट पर होने वाले बिहार विधान परिषद के चुनाव में केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस की राष्ट्रीय LJP ने हाजीपुर सीट के लिए अपना दावा ठोंक दिया है। चाचा पशुपति कुमार पारस और भतीजे चिराग पासवान की लड़ाई में हुए पार्टी के बंटवारे से पहले हाजीपुर LJP की परंपरागत सीट रही है। हालांकि, विधान परिषद के पिछले चुनाव में LJP के उम्मीदवार हार गए थे। बावजूद इसके, इस बार राष्ट्रीय LJP ने NDA के अंदर अपनी दावेदारी ठोंक दी है। इसकी पुष्टि पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रवण अग्रवाल ने की है। इनके मुताबिक इसके लिए मौखिक तौर पर CM नीतीश कुमार, BJP के बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव और प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल से पार्टी के सीनियर नेताओं की बात भी हो चुकी है।

स्थानीय स्तर पर होने वाले MLC के इस चुनाव में सहरसा की सीट भी LJP के हाथ में थी। वहां से नूतन सिंह चुनाव जीत कर MLC बनी थीं। मगर, बाद में नूतन सिंह ने LJP छोड़कर BJP का दामन थाम लिया था। इस सीट पर अब पारस की पार्टी अपना दावा नहीं कर रही है। प्रवक्ता के मुताबिक, पिछली बार के चुनाव में पार्टी ने हाजीपुर के साथ-साथ सुपौल, नालंदा और आरा से अपने उम्मीदवार उतारे थे। फिलहाल हाजीपुर को छोड़कर बाकी के सीटों पर पार्टी ने अपना दावा पेश नहीं किया है।

कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण की वजह से विधान परिषद के चुनाव को लेकर NDA की मीटिंग अभी नहीं हुई है। जब इस मुद्दे पर NDA की मीटिंग होगी तो उसमें बाकी सीटों को लेकर बातचीत होगी। सभी की सहमति से जो भी फैसला लिया जाएगा, वो पार्टी को मंजूर होगा, लेकिन हाजीपुर की सीट पर पूरा दावा हमारा ही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *