मुंगेर का गंगा सड़क पुल सरकार के ड्रीम प्रोजेक्‍ट में शामिल, ललन सिंह बोले- समय पर पूरा होगा काम

सरकार की ड्रीम प्रोजेक्ट गंगा सड़क पुल निर्माण में अब और तेजी आएगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खुद की इसकी मानीटङ्क्षरग कर रहे हैं। पुल निर्माण में आ रही अड़चनें को दूर कर लिया गया है। टेपो लैंड के किसानों की समस्याओं को सुलझा दिया गया है। जल्द ही उन्हें मुआवजे की राशि की उपलब्ध करा दी जाएगी। यह बातें मुंगेर के सांसद सह जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने कहीं। सांसद ने बताया कि मुख्यमंत्री इसकी स्वयं समीक्षा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री के आदेश पर ही तीन दिन पहले पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत मुंगेर पहुंचे और टोपो लैंड के किसानों की समस्याओं को गंभीरता से सुना।

मुख्यमंत्री का इस ऐतिहासिक परियोजना पर विशेष नजर है। सांसद ने बताया कि पुल निर्माण में सभी बाधाएं दूर कर ली गई है। पुल का निर्माण अब दोगुने रफ्तार से किया जाएगा, ताकि तय समय से पहले पुल का बनकर पूरी तरह तैयार हो जाए। 2022 में पुल चालू होने का लक्ष्य है। पुल को समय से पहले चालू करने की सभी कवायद चल रही है।

सांसद ने कहा कि मुख्यमंत्री का एक ही लक्ष्य है, हर क्षेत्र में विकास हो। मुंगेर गंगा पुल चालू होने के बाद मुंगेर के अलावा कोसी, सीमांचल, मिथिलांचल और उत्तर बिहार के जिलों में विकास का पंख लगेगा। सांसद ने बताया कि मुंगेर से सीधा कई शहरों की कनेक्टविटी बढ़ जाएगी। पुल बनने के बाद मुंगेर पहुंचने का रास्ता सुगम हो जाएगा। उद्योग और कारोबार भी बढ़ेगा। बाहर से लोग यहां पहुंचेंगे। सांसद ने कहा कि पुल के चालू होने से उत्तर बिहार के मुजफ्फरपुर, मिथिलांचल, खगडिय़ा, बेगूसराय, कोसी व सीमांचल की दूरी कम हो जाएगी। अभी मुंगेर के लोगों को इन जगहों पर वाहन से जाने के लिए भागलपुर विक्रमिशला पुल या फिर मोकामा के हाथीदह पुल होकर गुजरना पड़ता है। लेकिन, पुल चालू हो जाने के बाद इन परेशानियों से छुटकारा मिलेगा। एक बड़ी आबादी को राहत मिलेगी। सांसद ने कहा कि पुल चालू होने से मुंगेर के विकास का रास्त प्रशस्त होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *