मंत्री सुमित सिंह बोले-रामविलास पासवान की आज नहीं है वास्तविक पुण्यतिथि, यह उनके बेटे के राजनीतिक स्वार्थ की पुण्यतिथि है

बिहार के विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह ने सांसद चिराग पासवान द्वारा मनाई जा रही पिता व लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवास रामविलास पासवान की पुण्यतिथि पर बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि आज रामविलास जी की वास्तविक पुण्यतिथि नहीं है। उनका निधन 8 अक्टूबर 2020 को हुआ था। उनकी पुण्यतिथि 8 अक्टूबर को मनाई जानी चाहिए थी। चिराग पासवान यह सियासी पुण्यतिथि मना रहे हैं। इससे दिवंगत रामविलास पासवान जी की आत्मा को कितनी पीड़ा हुई होगी। उन्होंने कहा कि चिराग पासवान पहले भी उनके निधन पर दुःखी होने का वीडियो शूटिंग कर उनकी आत्मा को पीड़ा दे चुके है। मैं ईश्वर से रामविलासजी की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं। पिता की मौत और राजनीतिक पुण्यतिथि का इस्तेमाल करने वाला ऐसा बेटा शायद ही कोई दूसरा होगा।

उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि हिंदी तिथि के अनुसार रामविलास पासवान का निधन 08 अक्टूबर 2020 को अश्विन मास के कृष्ण पक्ष की षष्ठी तिथि को हुआ था। आज 12 सितंबर 2021 को भादो महीने के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि है। इसलिए हिन्दू पंचांग के अनुसार भी आज उनकी पुण्यतिथि नहीं है। रोमन कलेंडर अंग्रेजी पंचांग के अनुसार भी आज उनकी पुण्यतिथि नहीं है। तो यह क्या है? यह उनके बेटे के राजनीतिक स्वार्थ की पुण्यतिथि है।

बता दें कि रामविलास पासवास की बरसी के मौके पर चिराग ने अपने पूरे परिवार के साथ अपने पिता को श्रद्धांजलि अर्पित की। चिराग पासवान के साथ उनकी मां रीना पासवान, बड़ी मां राजकुमारी देवी समेत परिवार के कई अन्य लोग भी मौजूद रहे। चाचा पशुपति पारस ने भी अपने भाई रामविलास पासवान के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। वहीं विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता भी श्रत्रांजलि देने पहुंचे। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव इस कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने पूर्व केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान के चित्र पर पुष्प अर्पित किया और अपनी श्रद्धांजलि दी। राज्यपाल फागू चौहान समेत राजद से अब्दुल बारी सिद्दीकी, श्याम रजक समेत कई नेताओं ने श्रद्धांजलि दी।

इधर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामविलास पासवान के लिए दो पेज का संदेश चिराग पासवान को भेजा है। अपने दो पेज के इस संदेश में नरेंद्र मोदी ने रामविलास पासवान को 39 पंक्तियों में श्रद्धांजलि दी है। वहीं बिहार के CM नीतीश कुमार ने महज एक लाइन में रामविलास की बरसी पर श्रद्धांजलि दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *