पप्पू यादव की गिरफ्तारी कर अकेले पड़े नीतीश, JDU और BJP के कई नेताओं ने किया विरोध

पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव की गिरफ्तारी का अब बिहार के CM नीतीश कुमार के नेता ही पुरजोर विरोध कर रहे हैं. जेडीयू के कई नेता और कार्यकर्ता इस गिरफ्तारी का विरोध जता चुके हैं

किसने क्या कहा है

-CM नीतीश कुमार के करीबी और बेगुसराय के पूर्व सांसद,जेडीयू नेता मोनाजिर हसन ने कहा कि पप्पू यादव की गिरफ़्तारी की जितनी निंदा की जाए वो कम है,वो ग़रीबों के मसीहा के तौर पार काम कर रहे थे.मोनाजिर हसन ने कहा कि गिरफ़्तारी तो छपरा के डीएम और राजीव प्रताप रूडी की होनी चाहिए थी. मुसीबत के समय जब पप्पू ग़रीबों की मदद कर रहे थे, तब उनकी गिरफ़्तारी बेहद ही निंदा का विषय है.

-पूर्व विधायक और जेडीयू नेता विजयेंद्र यादव ने भी पप्पू यादव की गिरफ़्तारी पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है उन्होंने इस गिरफ्तारी की तीखे शब्दों में आलोचना की है

-जेडीयू नेता विजयेंद्र यादव ने पप्पू यादव की गिरफ़्तारी को सरासर ग़लत बताते हुए कहा कि मानवता के आधार पर राजीव प्रताप रूडी को एक मिनट भी सांसद रहने का अधिकार नहीं है, पप्पू यादव को मनुष्यता के आधार पर सरकार को तुरंत छोड़ देना चाहिए और एंबुलेंस प्रकरण की जांच कर डीएम तथा सांसद का इस्तीफ़ा मांगना चाहिए.

-बीजेपी एमएलसी रजनीश कुमार ने भी पप्पू यादव की गिरफ़्तारी को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए उन्हें अविलम्ब रिहा किए जाने की मांग की है.बिहार एनडीए में शामिल दूसरे सहयोगियों और वीआईपी लोग भी पप्पू की गिरफ्तारी का लगातार विरोध कर रहे हैं.

गौरतलब है कि जाप सुप्रीमो पप्पू यादव को मंगलवार(11 मई) को पटना में गिरफ्तार कर लिया गया था. उनकी यह गिरफ्तारी 32 साल पुराने एक अपहरण केस में हुई है. पटना से उन्हें मधेपुरा लाया गया. जहां कोर्ट ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. फिलहाल उन्हें सुपौल जिले की वीरपुर जेल में रखा गया है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *