मुश्किल में फंस गये चड्डी-बनियान वाले JDU विधायक, रेल यात्री ने लगाया लूटपाट और जातिसूचक गाली देने का आरोप

तेजस राजधानी एक्सप्रेस में अर्द्धनग्न हालत में घूमनेवाले गोपालपुर विधायक गोपाल मंडल बुरी तरह से घिर गए हैं। अब उनके खिलाफ नई दिल्ली रेलवे स्टेशन में रेल यात्री ने लिखित शिकायत दर्ज कराई गई है। अपनी शिकायत में रेलवे यात्री ने गोपाल मंडल के खिलाफ लूटपाट और जातिसूचक गाली गलौज करने का आरोप लगाया है। माना जा रहा है कि शिकायत के आधार पर अब गोपाल मंडल के खिलाफ एसटी-एससी एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया जा सकता है।

मामले में शिकायतकर्ता जहानाबाद के हुलासपुर थाना के जगतपुर निवासी प्रहलाद पासवान पिता राम कुमार पासवान ने बताया है कि वह बीते 2 सितंबर को 02309 राजेंद्र नगर-नई दिल्ली तेजस राजधानी के कोच संख्य एक के बर्थ संख्या 22 पर मेरा आरक्षण था। वहीं 21 नंबर सीट पर एक अन्य यात्री मौजूद था। शिकायतकर्ता का कहना है कि घटना रात के लगभग 8.26 बजे जब ट्रेन बिहिया स्टेशन पार कर रही थी, उसी दौरान बर्थ संख्या 13 पर बैठे विधायक गोपाल मंडल और उनके साथ 14,15,16 पर कुणाल सिंह, दिलीप कुमार, विजय मंडल भी विधायक के साथ सफर कर रहे थे।

इसी दौरान विधायक जी सिर्फ गंजी-जांघिया पहनकर बाथरुम जाने लगे। जब मैनें उन्हें कहा कि कोच में महिलाएं भी हैं, आप गमछा भी लपेट लें। इतना सुनते ही वह आग बबूला हो गए और अपने साथियों के साथ ट्रेन में बैठे यात्रियों के सामने मुझसे गाली गलौज करने लगे। अपनी शिकायत में प्रहलाद पासवान ने बताया कि इस दौरान विधायक व उनके साथियों ने मेरी सोने की सिकरी और दोनों हाथों में पहने सोने की अंगूठी भी छिन ली। उन्होंने आरोप लगाया है कि विधायक गोपाल मंडल ने इस दौरान जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर मुझे अपमानित भी किया। उन्होंने नई दिल्ली रेलवे पुलिस के मामले में गोपाल मंडल सहित उनके साथ अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की। नई दिल्ली पुलिस की तरफ से इसकी पुष्टि की गई है कि अभद्रता और चेन स्नेचिंग की शिकायत की गई है।

अब तक किसी विवादित मुद्दे पर बयानबाजी कर सफाई से बच जानेवाले गोपालपुर विधायक की मुश्किलें थोड़ी सी बढ़ गई है। उन्हें न सिर्फ सोशल मीडिया पर आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। बल्कि विपक्ष की तरफ से भी कार्रवाई की मांग की जा रही है। वहीं रेल यात्री के लिए जातिसूचक भाषा का इस्तेमाल करने को लेकर माना जा रहा है कि उनके खिलाफ एससी-एसटी के तहत मामला दर्ज हो सकता है। ऐसे में गोपाल मंडल इस बार बुरी तरह से फंस गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *