अपनी गिरफ्तारी पर बोले जाप सुप्रीमो -: सरकारों को कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने की तैयारी करनी चाहिए तो “पप्पू यादव” से लड़ रहे हैं।

Spread the love

बिहार के पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो कद्दावर नेता पप्पू यादव की गिरफ्तारी पर बिहार में सियासत तेज हो गई है। लोग इनकी गिरफ्तारी के विरोध में सड़क पर उतर आये हैं। इस बीच अपनी गिरफ्तारी पर पप्पू यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर गंभीर आरोप लगाए हैं. पप्पू यादव ने ट्वीट कर लिखा है कि सरकार उन्हें कोरोना पॉजिटिव कर मरवाना चाहती है। उन्होंने ट्वीट के माध्यम से अपनी बात रखते हुए कहा है कि ‘सरकारों को कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने की तैयारी करनी चाहिए तो पप्पू यादव से लड़ रहे हैं। हमारे साथ सेवा में, मदद में, जिंदगी बचाने में प्रतिस्पर्धा करो न! फंसाने और जेल भेजने की साजिश में समय जाया क्यों कर रहे हो? पूरे बिहार में मामला खोज रहे हैं, कैसे फंसाकर अपनी नाकामी छुपाएं’। बता दें कि बिहार के पूर्व सांसद और जाप प्रमुख पप्पू यादव को मंगलवार सुबह पटना में मंदिरी स्थित उनके आवास से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पप्पू यादव सुबह के समय पीएमसीएच के कोविड वार्ड में गए थे। पप्पू यादव की गिरफ्तारी की खबर सुनकर उनके आवास पर समर्थकों की भीड़ जमा होने लगी। पुलिस के मुताबिक उन पर बगैर अनुमति के घूमने, सरकारी कार्य में बाधा डालने और लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने का आरोप है।

पप्पू यादव पर अमनौर में एंबुलेंस मामले में एफआईआर दर्ज है-
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सारण के सांसद राजीव प्रताप रूडी के संसदीय मद से खरीदे गई एंबुलेंस को छिपा कर रखने के मामले में मचे बवाल के बाद अमनौर थाने में पप्पू यादव व उनके गार्ड पर एफआईआर की गयी है। सारण प्रशासन ने उनके खिलाफ मारपीट करने और लॉकडाडन का उल्लंघन करने के मामले में दो एफआईआर दर्ज की है। अमनौर के जयप्रभा सामुदायिक केन्द्र के केयर टेकर और गार्ड ने पप्पू यादव और उनके अंगरक्षक पर मारपीट कर कंधे पर लाठी से वार करने, तोड़फोड़ और हंगामा करने का आरोप लगाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.