जगदानंद ने तेजस्वी यादव को बताया भविष्यत का सेनापति, तेजप्रताप को लेकर कही बड़ी बात

राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) तथा प्रदेश अध्‍यक्ष जदगानंद सिंह (Jagdanand Singh) के बीच की अदावत जग-जाहिर है। तेज प्रताप तंज भरे बयान के बाद माफी मांग लेते हैं तो जगदानंद सिंह भी उन्‍हें बच्‍चा समझकर माफ कर देतेे हैं। इस मामले में जगदानंद सिंह ने बड़ा बयान दिया है। साथ ही उन्‍होंने तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) के बचपन का एक राज खोला है। उन्‍होंने लालू प्रसाद यादव से अपने संबंध को लेकर भी बड़ी बात कही है। उन्‍होंने तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) को भविष्‍य का सेनापति (Future Commander) बताया है।

विदित हो कि जगदानंद सिंह ने दिल्‍ली में बीमार लालू प्रसाद यादव से मुलाकात की है। माना जा रहा है कि इस मुलाकात में दोनों के बीच पार्टी के भविष्‍य के साथ तेज प्रताप के व्‍यवहार को लेकर भी बातचीत हुई। लालू अब संरक्षक की भूमिका में आकर छोटे बेटे तेजस्‍वी यादव को पार्टी की कमान सौंप देना चाहते हैं। सूत्र बताते हैं कि इसपर फैसला हो चुका है, केवल लागू करना शेष है। लालू चाहते हैं कि जगदानंद सिंह इसमें अहम भूमिका अदा करें। लालू व जगदानंद के बीच इस मसले पर बात हुई। इसके बाद सारे काम छोड़ तेजस्‍वी भी दिल्‍ली पहुंच चुके हैं, जहां उनकी लालू के साथ जगदानंद सिंह से मुलाकात होनी है।

तेजस्‍वी को पार्टी की कमान दिए जाने की बाबत पूछने पर जगदानंद सिंह ने कहा कि पार्टी में सभी काम समय पर होगा। तेजस्‍वी ही बिहार के भविष्य के नायक हैं। तेज प्रताप यादव से नाराजगी से इनकार करते हुए अपने इस्‍तीफे के प्रकरण पर जगदानंद सिंह ने कहा कि जब बदलाव का समय आएगा, तब बदलाव होगा।

हाल ही में तेज प्रताप यादव के बयान से नाराज होकर प्रदेश अध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफा देने की बाबत जगदानंद सिंह ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है। उन्‍होंने तेज प्रताप यादव को अनुशासित युवक बताया। कहा कि वह कहता है कि ‘लगता है जगता चाचा नाराज हैं।’ बोले, ”जब वह ‘चाचा’ कह कर नाराजगी की परवाह कर रहा है, तब कैसी नाराजगी?” जगदानंद सिंह ने लालू परिवार व तेज प्रताप यादव के जन्‍म व लालू परिवार से पुराने रिश्‍ते से जुड़े एक राज को भी खोला। लालू परिवार से अपने गहरे रिश्ते की जानकारी देते हुए उन्‍होंने कहा कि लालू प्रसाद यादव के घर पहली बार वे तेज प्रताप के जन्म के समय ही गए थे। आज वह बड़ा हो गया है तो उससे कैसी नाराजगी? वह तो खुद भी कहता है कि कल के महाभारत का सेनापति तेजस्वी होगा। फिर कैसा मतभेद और कैसी नाराजगी?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *