क्या हॉकी में लौट रहा भारत का पुराना दौर?

टोक्यो ओलिंपिक में गुरुवार को भारत की पुरुष हॉकी टीम ने अर्जेंटीना को 3-1 से हराया। अर्जेंटीना की टीम रियो ओलिंपिक की गोल्ड मेडलिस्ट रही है। इस बार भारतीय टीम ने जैसा प्रदर्शन किया उससे यही संकेत मिल रहे हैं कि इस खेल में भारत अब पुरानी प्रतिष्ठा दोबारा हासिल करने की राह पर है। ग्रुप राउंड में तीन मैच जीतकर भारतीय टीम ने एक बड़ा रिकॉर्ड भी बनाया है। 37 साल बाद भारतीय टीम ग्रुप स्टेज में 3 मुकाबले जीतने में सफल रही है। आखिरी बार भारत ने यह कारनामा 1984 में किया था।बता दें कि भारतीय टीम ने गुरुवार को पूल ए के मुकाबले में अर्जेंटीना को एकतरफा अंदाज में 3-1 से हराया। चारों क्वार्टर के खेल में भारतीय टीम ने दबदबा बनाए रखा। पहले दो क्वार्टर में कोई टीम गोल नहीं कर सकी, लेकिन सर्कल पेनिट्रेशन में भारत आगे रहा। भारत के लिए पहला गोल वरुण कुमार ने मैच के 43वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर किया।इसके बाद चौथे क्वार्टर के आखिरी दो मिनट में भारत की ओर से दो गोल हुए। विवेक सागर प्रसाद ने 58वें मिनट में और कप्तान हरमनप्रीत सिंह ने 59वें मिनट में गोल किया। अर्जेंटीना के लिए कैसिला ने 48वें मिनट में गोल किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *