BREAKING : पटना में DSP के कई ठिकानों पर सुबह-सवेरे रेड, अकूत संपत्ति जुटाने का आरोप, कई अहम सबूत मिले

इस वक्त एक बड़ी खबर राजधानी पटना से सामने आ रही है. पटना पाली के डीएसपी रहे तनवीर अहमद के कई ठिकानों पर छापेमारी चल रही है. पटना से लेकर बेतिया तक पुलिस की रेड पड़ी है. आर्थिक अपराध इकाई की टीम छापेमारी कर रही है. पता चला है कि छापेमारी दल को कई सबूत मिले हैं.

पटना पाली के डीएसपी रहे तनवीर अहमद बालू के अवैध खनन में संलिप्तता के बाद आय से अधिक संपत्ति के मामले में जांच के घेरे में हैं. इनको सरकार ने पिछेल दिनों 15 जुलाई को पद से हटाते हुए  हेडक्वार्टर क्लोज किया था. बिहार गृह विभाग की ओर से जारी पत्र संख्या 4744 के मुताबिक पटना जिले के पाली डीएसपी तनवीर अहमद, औरंगाबाद जिले के सदर डीएसपी अनूप कुमार, भोजपुर जिले के आरा डीएसपी पंकज रावत और रोहतास जिले में तैनात डिहरी के डीएसपी संजय कुमार को तत्काल पटना स्थित पुलिस हेडक्वार्टर तलब किया गया था. सस्पेंड किए गए डीएसपी के खिलाफ बालू माफियाओं से सांठगांठ के सबूत मिले हैं.

अब इस मामले में आर्थिक अपराध इकाई की कार्रवाई तेज हो गई है. ईओयू की टीम ने शिकंजा कैसा है. डीएसपी तनवीर अहमद के कई ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है. बताया जा रहा है कि टीम के हाथ कई अहम सबूत हाथ लगे हैं. बेतिया से भी कई कागजात मिले हैं. गौरतलब हो कि इसी साल जुलाई महीने में 18 तारीख को पाली के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के पद पर तनवीर अहमद को तैनात किया गया था. फिलहाल तनवीर अहमद सस्पेंड हैं और इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई संचालित की गई है. पिछले दिनों 27 अगस्त को शो कॉज लेटर जारी कर इनके जवाब मांगा गया था. बिहार में अवैध बालू खनन के मिलीभगत में फंसे चार डीएसपी की नौकरी खतरे में हैं. नीतीश सरकार ने इन सभी चारों डीएसपी के ऊपर निलंबन बड़ी कार्रवाई करने के बाद शो कॉज नोटिस थमा दिया था. इन चारों पुलिस पदाधिकारियों से सरकार ने महज 15 दिन के भीतर जवाब मांगा गया है. बिहार सरकार के उप सचिव सुधांशु कुमार चौबे की ओर से इन्हें नोटिस जारी किया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *