पटना में शादीशुदा प्रेमिका को हासिल न कर सका तो फंदे से झूला प्रेमी, जेब से सुसाइड नोट मिला

पटना के सिपारा पुल पर एक प्रेमी ने फंदे से झूलकर अपनी जान दे दी। सोमवार को पुल से उसका शव बरामद किया गया है, जिससे पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। उसकी जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उसने अपनी प्रेम-कहानी के दुखद अंत को बयान किया है। घटना की सूचना मिलते ही बेऊर थाने की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को नीचे उतारा। इसके बाद शव को पोस्टमाॅर्टम के लिए भेज दिया। मृतक की पहचान छपरा निवासी अजय ठाकुर (22 वर्ष) के रूप में की गई है। अजय ठाकुर अपने बहनोई के साथ सिलीगुड़ी में मेंस पार्लर में काम करता था। इसी बीच सिलिगुड़ी की ही एक लड़की से उसे प्यार हो गया, लेकिन लड़की की शादी उनके परिवार वालों ने दूसरी जगह करा दी। उसे एक बच्चा भी हो गया। इसके बावजूद अजय का उसके साथ प्रेम चल ही रहा था। मौका मिलने पर वह कभी-कभार लड़की से मिलने भी जाया करता था। शुक्रवार को अजय ठाकुर लड़की और उसके बच्चे को लेकर सिलीगुड़ी से पटना के मीठापुर बस स्टैंड पहुंचा और एक होटल में रुका था।

इस बीच लड़की के परिजन दोनों को खोजते हुए पटना पहुंचे और अजय की पिटाई कर दी। लड़की को उसके परिजन बच्चे के साथ लेकर सिलीगुड़ी चले गए और अजय पटना के होटल में अकेला रह गया। इस हादसे से परेशान अजय ठाकुर ने सोमवार सुबह गले में रस्सी लगाकर सिपारा पुल से झूल कर आत्महत्या कर ली। सुसाइड करने से पहले अजय ठाकुर ने अपने बैग में एक सुसाइड नोट भी लिख रखा था। इस नोट में अजय ठाकुर ने अपने और लड़की के बारे में पूरी बात का जिक्र किया है। अजय ठाकुर के एक दोस्त सनम बैठा ने बताया कि कई बार अजय को इस मामले से दूर रहने की हिदायत दी थी, लेकिन वह कुछ सुनने को तैयार नहीं था। इधर, बेऊर थाने के प्रशिक्षु DSP अमित कुमार ने बताया कि अजय ठाकुर के परिजनों को सूचना दे दी गई है। वह छपरा मसरख के नगुनी गांव का रहने वाला है। उनके पिता शंकर ठाकुर गांव में ही हजामत बनाने का काम करते हैं। चार भाइयों में अजय तीसरे नंबर पर था। दो भाई सुनील ठाकुर और विजय ठाकुर एवं एक छोटा भाई संजय ठाकुर छपरा में ही रह कर अपना बिजनेस करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *