मुजफ्फरपुर में बच्ची से बर्बरता, मकान मालिक चाकू से काटकर शरीर पर देती है जख्म, कई जगह जले और कटे के निशान

मुजफ्फरपुर में मासूम से बर्बरता की सारी हदें पार कर देने वाली घटना सामने आई है। मोतिहारी की एक महिला अपने पड़ोस की बच्ची को साथ लेकर पढ़ाने के बहाने शहर लेकर आई थी। बच्ची के गरीब मां-बाप ने महिला पर विश्वास कर उसे भेज दिया। शहर में आने के बाद महिला के हावभाव बदल गए। वह बच्ची को शिक्षा देने के बदले उससे घर का काम करवाने लगी। 7 साल की मासूम से चूल्हा-चौका और पोछा बर्तन करवाने लगी। काम में गलतियां होने पर उसके साथ बर्बरता करती। बच्ची से गलती से एक बर्तन भी गिर जाता था तो गर्म करछी से उसके हाथ पर दाग देती थी। इतने से मन नहीं भरता था तो चाकू से उसके पैर को काटकर ज़ख्म कर देती थी। बच्ची चीखती-चिल्लाती थी, लेकिन बंद चाहरदीवारी में उसकी आवाज दबकर रह जाती थी। यह मामला काजी मोहम्मदपुर थाना क्षेत्र के कलमबाग रोड का है।

इस बर्बरता का खुलासा तब हुआ जब बच्ची हिम्मत जुटाकर घर से भाग निकली। वार्ड पार्षद संतोष महाराज को पंखा टोली मोहल्ले में रोती बिलखती मिली। उन्होंने बच्ची का हाल देखा तो तरस आ गई। उन्होंने उससे पूरी बात पूछी। बच्ची ने जो बताया वह सुनकर वे दंग रह गए। बच्ची की मां को बुलाया गया। उनको पूरी बात बताई। फिर मामला थाना पहुंचे। थाने पर पुलिसकर्मियों ने कार्रवाई करने के बदले बच्ची की मां पर ही दबाव बनाना शुरू कर दिया। कहने लगे कि तुम ही फंस जाओगी। बाल मजदूरी करवाने के जुर्म में केस हो जाएगा। यह सुनकर उसकी मां डर गई। आपस में समझौता करने की बात बोल वहां से निकल गई। बाद में उसने भास्कर ने अपनी पीड़ा व्यक्त की।

बच्ची के साथ वह महिला तीन महीने से अधिक से प्रताड़ित कर रही है। मासूम ने बताया कि महिला का पति बैंक में कार्यरत है। वह भी कुछ नहीं बोलता था। घटना को लेकर मोहल्ले में आक्रोश है। कई महिलाएं आरोपित महिला के घर पहुंच गईं। मामला बढ़ता देख आरोपित महिला फरार हो गई।

थानेदार सत्येन्द्र सिन्हा ने बताया कि किसी ने लिखित शिकायत नहीं की है। पुलिस जब उस महिला के घर पर गई तो वह फरार मिली। अपने स्तर से कार्रवाई की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *