गया में यू-ट्यूब पर रिस्पांस न देना, गुलाब भेंट न करना पति को पड़ा भारी, अब पत्नी मांग रही तलाक

जमाना अब तेजी से बदल रहा है। पति-पत्नी के बीच तलाक सिर्फ पारिवारिक कारणों से ही नहीं हो रहे हैं, बल्कि सोशल मीडिया पर पत्नी के पोस्ट को रेस्पांस नहीं करना भी रिश्ते में दारार की वजह बन रही है। यू-ट्यब पर रिस्पांस न देना और रोज डे पर गुलाब व वेंलेंटाइन डे पर तोहफा नहीं देने की भूल या समझ नहीं रखने वाले लड़के की शादी अब टूटने की कगार पर पहुंच चुकी है। मामला गया जिले का है। गया जिले के महिला थाने के अधिकारियों ने एक हद तक जाकर पति-पत्नी की काउंसलिंग की, लेकिन दोनों में से कोई नहीं माने। नए दंपती की शादी के 7 माह ही बीते थे कि अब दोनों के बीच सेपेरेशन की कहानी का तानाबाना बुना जाने लगा है।

9 दिसंबर को जिले के गुरुआ थाना क्षेत्र के राजेश कुमार की शादी चंदौती थाना क्षेत्र की रहने वाली एक युवती से हुई थी। राजेश सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। वह बंगलुरु में किसी मल्टी नेशनल कंपनी में अच्छी पैकेज पर कार्यरत है। शादी के बाद राजेश नई नवेली बीवी को लेकर बंगलुरु चला गया। वहां दोनों एक साथ रहने लगे। राजेश की बीवी व साली यू ट्बर है। दोनों राजेश को यू ट्यूब पर अपने सौंदर्य के लटके झटके से संबंधित वीडियो भेजा करती थी, लेकिन राजेश उन वीडियो पर कोई भी रेस्पांस नहीं देता था। यह बात राजेश की बीवी को मन ही मन नागवार गुजर रही थी। इसी बीच वेलेंटाइन डे का दौर शुरू हो गया। रोज डे के दिन राजेश की बीवी एक अदद गुलाब की कली भेंट किए जाने की आस पाले बैठी थी। सुबह से शाम फिर शाम से रात हो गई, पर राजेश अपनी बीवी की भाषा और मन को भांप नहीं सका। इस बात को लेकर राजेश की बीवी बिफर पड़ी। दोनों के बीच जमकर तकरार हुआ। कुछ दिनों बाद दोनों बंगलुरु से चल कर गया आ गए। कुछ दिन बाद राजेश उसे गया में छोड़ कर वापस अपनी ड्यूटी पर चला गया। अब बात बनने के बजाय और बिगड़ गई और बात महिला थाने तक पहुंच गई।

महिला थाना अध्यक्ष रवि रंजना ने दोनों को थाने बुलाया। थोड़े-थोड़े दिनों के अंतराल पर थाना प्रभारी की ओर से दोनों की काउंसिलिंग की गई। काउंसिलिंग का असर राजेश पर तो हो रहा था पर, राजेश की पत्नी पर इसका थोड़ा भी असर नहीं हो रहा था। वह गुलाब, उपहार व यू ट्यूब पर राजेश द्वारा तारीफ नहीं की जाने की बात की जिद पर अड़ी रही। महिला थाना प्रभारी ने कानून और सेपेरेशन से जीवन की दुश्वारियों का हवाला देते हुए दोनों को एक साथ रहने आदेश दिया। दोनों ने एक साथ रहना शुरू किया, पर एक पखवारे ही बीते थे कि दोनों के बीच जमकर झगड़ा हो गया। मामला थाने तक फिर से पहुंच गया। न चाहते हुए भी महिला थाना को दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करना पड़ गया। राजेश बिहार बोर्ड से पढ़कर सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद तक पहुंचा है। उसके पिता इस दुनिया में नहीं है। वह अपने पिता की इकलौती संतान है। साथ ही वह घर से भी संपन्न है। वहीं उसकी बीवी की स्कूलिंग CBSE बोर्ड से हुई है। लोग बताते हैं कि वह इंटर से आगे की पढ़ाई अभी पूरी नहीं कर पाई थी। इसी बीच उसकी शादी कर दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *