बिहार में सेक्स रैकेट में लड़कियों के साथ महिला दलाल और पार्टनर गिरफ्तार, नेताओं के पास भेजी जाती थीं

बिहार में सेक्स रैकेट के एक बड़े धंधे का खुलासा हुआ है. पुलिस ने जिस्मफरोशी के धंधे में शामिल कई लोगों को पकड़ा है, जो बिहार से लेकर मुंबई तक बड़े-बड़े सफेदपोश लोगों के पास लड़कियों की सप्लाई करते हैं. गिरफ्तार लोगों में एक महिला दलाल भी शामिल है, जो इस धंधे में ‘बुआ’ नाम से चर्चित है. यही महिला अपने पार्टनर और बाउंसर के साथ मिलकर लड़कियों को जिस्मफरोशी के दलदल में उतारती थी.

मामला बिहार के बिक्रमगंज का है लेकिन इसका नेटवर्क मुजफ्फरपुर, रक्सौल से लेकर नेपाल और मुंबई तक फैला है. पकड़ी गई महिला दलाल रेखा देवी लड़कियों को अच्छी कंपनी में नौकरी और पढ़ाई का झांसा देकर आर्केस्ट्रा में शामिल करती थी. लड़कियों को पहले वह मुम्बई स्थित अपने घर में रखती थी. वहां से लड़कियों को मुम्बई के डांस बार में सप्लाई करती थी. बताया जा रहा है कि आर्केस्ट्रा की आड़ में मासूम लड़कियों को जिस्मफरोधी के धंधे में धकेला जाता था. दरअसल इस पूरे मामले का खुलासा तब हुआ जब एक मासूम बच्ची किसी तरह इन दरिंदों की चंगुल से आजाद होकर पटना पहुंची. पटना पहुंचते ही 14 साल की बच्ची ने बाल कल्याण समिति के सामने लाया गया. बच्ची के बयान पर बाल कल्याण समिति ने एसएसपी पटना को पत्र लिखकर प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया.

मानव तस्करी और सेक्स रैकेट से जुड़े इतने बड़े मामले की गंभीरता को देखते हुए कमजोर वर्ग के एडीजी अनिल यादव ने त्वरित रेस्क्यू टीम गठित कर रोहतास भेजा. पुलिस जब तक घटना स्थल पर पहुंचती, किशोरी की छोटी बहन 12 साल की किशोरी की हत्या कर दी गई थी. वहां से पुलिस ने 9 लड़कियों को बरामद किया. इनमें 6 नाबालिग हैं. छुड़ाई गई लड़कियां मुजफ्फरपुर, रोहतास और रक्सौल की हैं. इन्हें फिलहाल आश्रय गृह में रखा गया है. इन लड़कियों को आजाद करने के साथ-साथ पुलिस ने महिला दलाल रेखा देवी के साथ शंकर नट, गोपाल नट, विकास और सोनू को गिरफ्तार किया है.  पुलिस ने विक्रमगंज थाने में पॉक्सो, हत्या, मानव तस्करी के साथ अपहरण की धाराओं में प्राथमिकी दर्ज कराई है. पुलिस ने घटना स्थल से 1 लाख 71 हजार रुपये बरामद किये हैं. यही नहीं, गर्भ निरोधक के साथ गर्भपात कराने वाली कई तरह की दवाएं भी बरामद की हैं. कमजोर वर्ग की एसपी बीना कुमारी ने बताया कि 19 जुलाई को बाल कल्याण समिति से सूचना मिली थी कि रेखा देवी नाम की महिला आर्केस्ट्रा की आड़ में नाबालिग लड़कियों से देह व्यापार कराती है. सूचना के आधार पर 19 जुलाई को रातभर छापेमारी अभियान चलाया गया. रेस्क्यू टीम गठित कर लड़कियों को मुक्त कराया गया है. अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *