पटना में चोरी का बिजली जलाते हैं तो जाएं सावधान, लग सकता है 440 वोल्ट का झटका

अगर आप पटना में रहते हैं और चोरी का बिजली जलाते हैं तो अभी से सावधान हो जाइये. बिजली चोरी करने के आरोप में 9 लाख रुपये का जुर्माना ठोका गया है. बिजली चोरी करने वालों के विरुद्ध इन दिनों ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है. राजधानी पटना का शहरी इलाका हो या फिर ग्रामीण क्षेत्र हो, बिजली चोरी के जुर्म में सख्त एक्शन लिया जा रहा है. उनके ऊपर कानूनी कार्रवाई की जा रही है. विधुत विभाग की टीम छापेमारी कर लोगों को गिरफ्तार कर रही है और साथ ही साथ लाखों रुपये का जुर्माना भी ठोका जा रहा है.

पटना के सबसे व्यस्तम इलाकों में से एक बोरिंग रोड में मंगलवार को बिजली विभाग की टीम ने एक बड़ी कार्रवाई की. बोरिंग रोड के एक व्यक्ति पर 2 लाख 86 हजार का जुर्माना ठोका गया है, जो चोरी से बिजली जला रहा था. इस शख्स के खिलाफ थाने में एफआईआर भी दर्ज कराई गई है. पाटलिपुत्र विद्युत आपूर्ति प्रमंडल के अंतर्गत एसकेपुरी अवर प्रमंडल के सहायक अभियंता द्वारा बकाया के कारण लंबे समय से बंद स्मार्ट प्रीपेड मीटर की जांच की जा रही थी. इस दौराना पाया गया कि बोरिंग रोड में रहने वाले अनिरुध सिन्हा के बेटे अमित कुमार के यहां दिसंबर 2020 से ही कोई बिजली की रीडिंग नहीं आ रही थी. स्थल निरीक्षण में पाया गया कि परिसर में बिजली का उपयोग किया जा रहा है. जांच के क्रम में पता चला कि मीटर को बायपास कर बिजली की चोरी की जा रही है.

पटना शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में भी कार्रवाई की जा रही है. कल ही बाढ़ में भी बिजली चोरी के मामले में एक व्यक्ति पर 2 लाख 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया. बाढ़ बिजली विभाग की टीम ने मंगलवार को दाहौर गांव निवासी आशुतोष ठाकुर के यहां छापा मारकर बिजली की चोरी करते हुए पकड़ा. बिजली विभाग के जेइ ग्रामीण विमलेंद्र कुमार ने बताया कि आशुतोष लंबे समय से बिजली चोरी कर रहा था. उधर पटना जिले के धनरूआ प्रखंड के विभिन्न गांवों में मंगलवार की शाम तक विद्युत विभाग की टीम सहायक अभियंता चंद्रमणी कुमार निराला के नेतृत्व में छापेमारी करते हुए कुल 11 लोगों को बिजली चोरी करते हुए पकड़ा. इन सभी के पर कुल 3 लाख 84 हजार 341 रुपये का जुर्माना लगाया हुआ. इनमें प्रखंड के डेवां पंचायत के दो वार्ड सदस्य रेणु देवी और चतुरानंद मिश्र भी शामिल हैं. इन दोनों वार्ड सदस्यों के द्वारा नल जल योजना के लिये लगे मोटर को मीटर से बाइपास करते हुए मोटर चलाया जा रहा था. वार्ड सदस्य रेणु देवी पर 45 हजार 775 औरचतुरानंद मिश्र पर 55 हजार 639 रुपया जुर्माना लगाया गया है. साथ ही नल जल के लिए लगे मोटर का लाइन काट दिया गया है. जिससे इन दोनों वार्डों में लोगों को नल जल से पानी की आपूर्ति ठप हो गयी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *