आगर आप चला रहे Youtube चैनल तो पढ़ लिजिए ये 3 शर्त, नही तो बंद हो जाएगा आपका Youtube चैनल…

Spread the love

HI DESK : यूट्यूब द्वारा एक बड़ी खबर प्रकाश में आई है, जहां यूट्यूब ने भारत में साल 2022 के शुरुआती तीन महीने में 11 लाख से ज़्यादा वीडियो को डिलीट कर दिया है. बता दें कि ग्लोबली ये संख्या काफी बड़ी है. लेकिन इसके अलावा यूट्यूब ने 2022 की पहली तिमाही में सामुदायिक दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने पर 44 लाख से ज्यादा अकाउंट को भी डिलीट कर दिया है. हालांकि इनमें से ज़्यादातर चैनलों को कंपनी स्पैम नीतियों का उल्लंघन करने की वजह से खत्म किया गया है. वहीं रिपोर्ट के मुताबिक Google की कंपनी यूट्यूब से हटाए जाने वाले वीडियो में 90% से ज्यादा वीडियोज को फेक होने की वजह से हटाया गया है. यूट्यूब पर हिंसक कंटेंट पोस्ट करने, सिक्योरिटी और प्राइवेसी गाइडलाइन्स को हटाने की वजह से भी काफी सारे वीडियो को हटाया गया है.

यूट्यूब ने ऐसे कंटेंट को हटा है, जो बार-बार पोस्ट की गई. बता दें कि कुछ चैनल या वीडियो यूज़र्स से किसी और चीज़ का वादा करते हैं, और फिर उन्हें किसी दूसरी साइट पर रीडायरेक्ट कर दिया जाता है. जिससे कि उन्हें क्लिक मिले, और वह उससे पैसे कम सकें. इसके अलावा कुछ चैनल यूज़र्स को ऐसी वेबसाइट पर भेज देते हैं, जिसमें खतरे वाला सॉफ्टवेयर होता है,. इतना ही नही वह उससे यूज़र्स की निजी जानकारी इकट्ठा करते हैं.

YouTube ने ऐसे कंटेंट को भी हटाया है जो YouTube पर एंगेजमेंट मेट्रिक जैसे व्यू, लाइक, कमेंट या कोई दूसरे मेट्रिक बेचती है. आपको बता दें कि यूट्यूब चैनल को बंद करने के लिए यूट्यूब का नियम में बताया गया है. नियम में यह बताया गया है कि अगर कोई चैलन 90 दिनों के अंदर तीन बार उनके बनाए गए नियमों का उल्लंघन करता है तो उस चैनल को कंपनी द्वारा बंद कर दिया जाएगा. वहीं दूसरी तरफ अगर कोई यूट्यूब चैनल 3 बार से भी ज्यादा नियमों का उल्लंघन करता है तो उस चैलन के द्वारा प्रकाशित किए गए सभी वीडियो को भी हटा दिया जाएगा. साल 2022 के जनवरी और मार्च के बीच यूट्यूब ने कंपनी के सामुदायिक दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने के लिए 30 लाख से ज़्यादा वीडियो को हटा दिया है. हालांकि इनमें से 91% वीडियो इंसानों के बजाय पहले मशीनों द्वारा पकड़ी गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published.